किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर पर जहां पुलिस ने की थी 'कीलबंदी', वहां राकेश टिकैत ने लगाए फूल..

किसानों को दिल्‍ली में प्रवेश से रोकने के लिए पुलिस की ओर से की गई 'नाकेबंदी और कीलबंदी' के जवाब में किसानों ने वहां मिट्टी डालकर फूल लगाए.

किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर पर जहां पुलिस ने की थी 'कीलबंदी', वहां राकेश टिकैत ने लगाए फूल..

राकेश टिकैत ने कहा, दिल्‍ली, यूपी और उत्‍तराखंड को छोड़कर पूरे देश में राजमार्गों पर चक्‍काजाम किया जाएगा

नई दिल्ली:

Kisan Aandolan: शनिवार 6 फरवरी को उत्‍तर प्रदेश और उत्तराखंड में किसानों का चक्काजाम (Chakka Jam) नहीं होगा. गाजीपुर बार्डर पर राकेश टिकैत और बलबीर सिंह राजोवाल की बैठक के बाद ये फैसला लिया गया. किसान नेताओं ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर बाकी समूचे देश में राजमार्गों पर चक्काजाम करेंगे. हम कल दिल्ली में चक्काजाम नहीं कर रहे हैं. हम सभी बार्डरों पर शांतिपूर्ण तरह से बैठे रहेंगे. हम दिल्ली के अलावा पूरे देश में राष्ट्रीय और राज्य हाईवे बंद करेंगे. यूपी और उत्‍तराखंड में चक्‍काजाम नहीं करने के के पीछे उन्‍होंने तर्क दिया कि गन्ने की कटाई और लगातार चल रहे क‍िसान आंदोलन में किसानों को कुछ आराम देना चाहते हैं. भारतीय किसान यूनियन के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा, 'हम यूपी और उत्तराखंड में चक्काजाम नहीं करेंगे बल्कि ज्ञापन देंगे. बाकी देशभर में चक्का जाम चलेगा.'

अमेरिकी उपराष्‍ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना ने किसान प्रदर्शन के समर्थन में किया ट्वीट

किसानों को दिल्‍ली में प्रवेश से रोकने के लिए पुलिस की ओर से की गई 'नाकेबंदी और कीलबंदी' के जवाब में किसानों ने वहां मिट्टी डालकर फूल लगाए. गाजीपुर बार्डर में जहां एक दिन पहले तक पुलिस की कीलबंदी थी, वहां अब मिट्टी डालकर फूल लगाने की तै़यारी हो रही है.मीडिया के सैकड़ों कैमरों के बीच किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait)  पहले मिट्टी के डंफर और फिर फावड़ा लेकर फूल लगाने के लिए पहुंचे. पहले कील लगाकर दिल्ली पुलिस ने सुर्खियां बटोरीं, अब फूल लगाकर राकेश टिकैत चर्चाओं में आए.

'अगली बार कृषि कानून पढ़ कर आना', पूर्व CM के सांसद बेटे पर सदन में ही भड़के मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

किसान और सरकार अपनी-अपनी रणनीति के मुताबिक चल रहे हैं. सरकार जहां किसान आंदोलन की घेराबंदी करके इनको थकाना चाहती है वहीं किसान नेता किसानों को आराम देकर आंदोलन को मजबूत करने की रणनीति बना रहे हैं. इससे पहले गाजीपुर बार्डर पर दोपहर तक किसान नेता चक्काजाम की रणनीति बनाते रहे. दोपहर बाद किसान नेता बलबीर सिंह राजोवाल और राकेश टिकैत के बीच चली एक घंटे की बैठक के बाद जब राकेश टिकैत बाहर निकले तो उन्होंने उत्‍तर प्रदेश और उत्तराखंड में चक्काजाम न करने का ऐलान कर दिया. 


दिल्ली को छोड़कर पूरे देश में चक्का जाम : किसान नेता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com