कोविड के दौरान रहने के लिहाज से सर्वश्रेष्‍ठ स्‍थानों की सूची में भारत की 'ऊंची' छलांग, यूं आया सुधार...

भारत की स्थिति में आए सुधार की बात करें तो यह मुख्‍य रूप से दैनिक संक्रमण की संख्‍या में आई कमी के बाद इकोनॉमी के फिर से उभरने और शुरुआती सुस्‍ती के बाद टीकाकरण के गति पकड़ने का परिणाम माना जा रहा है.

कोविड के दौरान रहने के लिहाज से सर्वश्रेष्‍ठ स्‍थानों की सूची में भारत की 'ऊंची' छलांग, यूं आया सुधार...

कोरोना के मोर्चे पर भारत ने अपने प्रदर्शन में काफी सुधार किया है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

कोरोना महामारी के दौरान ब्‍लूमबर्ग की Covid Resilience Ranking में सबसे अच्‍छे और सबसे खराब स्‍थान की सूची में 12 स्‍थान की तरक्‍की की है. यह अच्‍छा प्रदर्शन ऐसे समय सामने है जब एक साल पहले भारत में कोरोना को लेकर हालात खराब थे. ब्‍लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, मंथली स्‍नैपशॉट (monthly snapshot) में भारत इस समय 26वें क्रम पर हैं, यह इस बात को दर्शाता है कि यहां पर सामाजिक और आर्थिक उथलपुथल क बावजूद कोरोनावाायरस को प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जा रहा. लीग टेबल में 53 प्रमुख अर्थव्‍यवस्‍थाओं का कोरोना कंटेनमेंट, अर्थव्‍यवस्‍था और खुलेपन के आधार पर आंकलन किया गया है. 

भारत की स्थिति में आए सुधार की बात करें तो यह मुख्‍य रूप से दैनिक संक्रमण की संख्‍या में आई कमी के बाद इकोनॉमी के फिर से उभरने और शुरुआती सुस्‍ती के बाद टीकाकरण के गति पकड़ने का परिणाम माना जा रहा है. देश में अब तक एक अरब से अधिक कोरोना डोज दी जा चुकी हैं.  उच्‍च स्‍तर की स्‍वाभाविक इम्‍युनिटी भी देश के लोगों के कोरोना संक्रमण से उबरने में मददगार साबित हुई है क्‍योंकि कुछ sero survey में तो कुछ क्षेत्रों में पूर्व में  संक्रमण की दर 97%  थी. डेल्‍टा वेरिएंट के जोर पकड़ने और मई माह की शुरुआत में चार लाख से अधिक दैनिक केस के वर्ल्‍ड रिकॉर्ड के बाद देश की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था बुरी तरह चरमरा गई थी हालांकि अब रोजाना के संक्रमण के मामलों की संख्‍या 7000 के आसपास आ गई है. 

Covid Resilience Ranking के 12 संकेतकों में से भारत के उत्‍थान में सबसे अहम योगदान नवंबर में दुनिया के कई स्‍थानों से वैक्‍सीनेटेड यात्रियों के लिए अपनी सीमाओं को फिर से खोलने का रहा. एक अन्‍य बात जो अहम साबित हुई, वह नवंबर में फ्लाइट कैपेसिटी को बढ़ाकर वर्ष 2019 के स्‍तर तक पहुंचाने की रही इससे लोगों को बिजनेस और यात्राएं फिर से प्रारंभ करने में मदद मिली. घरेलू ट्रेवल ट्रैफिक रिकवरी भी पिछले कुछ माह से उत्‍साहित करने वाली है, लेकिन इंटरनेशनल फ्लाइट्स  के साथ भारत अब Flight Capacity Recovery indicator में टॉप 10 में है.आधिकारिक तौर पर देश में कोरोनासंक्रमण के रोजाना के मामलों की संख्‍या अब कुछ हजार ही रह गई है जो कि बेहद अधिकजनसंख्‍या वाले देश के लिहाज से काफी कम है. भारत का per capita infection rate नवंबर माह में 100,000 लोगों में 23 लोगों का है जो कि रैंकिंग में नंबर 1 पर काबिज यूनाइटेड अरब अमीरात की ही तरह कम है. 

ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते खतरे के बीच सतर्क हुई सरकार, राज्यों की दी हिदायत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com