विमान किराये में बढ़ोतरी: हरदीप पुरी ने कहा, मई 2020 से एटीएफ की कीमतें तीन गुना बढ़ीं

पिछले साल मई में घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू करने की घोषणा करते हुए विमानन मंत्रालय ने उड़ान अवधि के आधार पर वर्गीकृत सात बैंडों के माध्यम से हवाई किराये की सीमाएं तय की थीं

विमान किराये में बढ़ोतरी: हरदीप पुरी ने कहा, मई 2020 से एटीएफ की कीमतें तीन गुना बढ़ीं

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार को कहा कि 25 मई को घरेलू उड़ानों के फिर से शुरू होने के बाद से विमानन टरबाइन ईंधन की कीमत में तीन गुना की वृद्धि हुई है. उन्होंने घरेलू हवाई किराए की निचली और ऊपरी सीमा को 10 से 30 प्रतिशत तक बढ़ाने के केंद्र सरकार के फैसले के बारे में जानकारी देते हुए यह बात कही. पिछले साल मई में घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू करने की घोषणा करते हुए, विमानन मंत्रालय ने उड़ान अवधि के आधार पर वर्गीकृत सात बैंडों के माध्यम से हवाई किराये की सीमाएं तय की थीं.

पहले बैंड में ऐसी उड़ानें होती हैं जो 40 मिनट से कम की होती हैं. बृहस्पतिवार को, इस बैंड के लिए, निचली सीमा 2,000 रुपये से बढ़कार 2,200 रुपये कर दी गई और ऊपरी सीमा 6,000 रुपये से बढ़ाकर 7,800 रुपये कर दी गई.


पुरी ने सोमवार को ट्विटर पर कहा, “जब घरेलू उड़ानों को लॉकडाउन के बाद फिर से शुरू किया गया, तो जनता के विश्वास को बढ़ाने और जनता को कोई असुविधा न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए सिर्फ इकोनॉमी यात्रा पर ये किराया बैंड लागू किए गए थे.”

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, “तब से, कच्चे तेल की कीमत 30 डॉलर से बढ़कर 60 डॉलर प्रति बैरल हो गई है. विमानन टरबाइन ईंधन की कीमतें 17,000 रुपये प्रति किलोलीटर से बढ़कर 51,000 रुपये प्रति किलोलीटर हो गई हैं. हालांकि, निचले बैंड पर किराये का स्तर 10 प्रतिशत बढ़ाया गया है और ऊपरी बैंड पर 30 प्रतिशत बढ़ाया गया है. अधिक आपूर्ति के कारण, अधिकांश यात्राएं निचले बैंड में होती हैं.”



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)