हिल स्टेशनों पर इतनी भीड़ क्यों? देखकर डरने की है जरूरत...

दिल्ली के लक्ष्मी नगर, सदर बाजार, मुंबई की दादर मार्केट, हिमाचल के मनाली और शिमला, उत्तराखंड के मसूरी में भीड़ की तस्वीरें प्रेस कांफ्रेंस में दिखाई गईं.

हिल स्टेशनों पर इतनी भीड़ क्यों? देखकर डरने की है जरूरत...

नई दिल्ली:

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना से जुड़ी पाबंदियों में ढील के बाद देश के कुछ पर्यटन स्थलों और बाजारों में हो रही भीड़ का मुद्दा मंगलवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में उठाया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अगर लोग कोरोना को लेकर नहीं संभले तो फिर सभी को दिक्कत होगी. मंत्रालय ने उमड़ रही भीड़ की तस्वीरें प्रेस कांफ्रेंस में भी दिखाई. मंत्रालय ने बाजारों और टूरिस्ट प्लेस में जुट रही भीड़ की तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि जिस तरह लोग बिना मास्क और बिना सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए ट्रैवल कर रहे हैं, उससे ये लग रहा है कि वे सोच रहे हैं वायरस खत्म हो गया. लेकिन कोरोना वायरस अभी भी हमारे बीच है. अगर कोविड अप्रोप्रिएट बिहेवियर नहीं रखा गया तो यह फिर फैलेगा. अब तक कोविड मैनेजमेंट का जो फायदा हुआ है वो फिर खत्म हो जाएगा और फिर से बड़े चैलेंज का सामना करना पड़ सकता है. 

दिल्ली के लक्ष्मी नगर, सदर बाजार, मुंबई की दादर मार्केट, हिमाचल के मनाली और शिमला, उत्तराखंड के मसूरी में भीड़ की तस्वीरें प्रेस कांफ्रेंस में दिखाई गईं. केंद्र ने कहा कि भीड़ लगाई गई और सावधानी नहीं बरती गई तो चुनौती फिर बढ़ सकती है. एक ऑनलाइन सर्वे में सामने आया है कि 29 पर्सेंट लोग ही मास्क लगाने के नियम का पालन सही से कर रहे हैं और 24 पर्सेंट लोग बिल्कुल मास्क नहीं लगा रहे. 

कोरोना के बाद नया खतरा ‘बोन डेथ', खून सप्लाई रुकने से गलने-सड़ने लगती हैं हड्डियां

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है लेकिन लोग कोरोना से बचने के लिए नियमों का सही से पालन नहीं कर रहे हैं. मंत्रालय के मुताबिक के ऑनलाइन सर्वे में ये सामने आया कि 24 फीसदी लोग मास्क का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, 45 पर्सेंट लोग लगा तो रहे हैं लेकिन वो सही से नहीं लगा रहे हैं और सिर्फ 29 पर्सेंट लोग ही मास्क सही से लगा रहे हैं. इसी तरह 63 पर्सेंट लोग सोशल डिस्टेंसिंग का बिल्कुल पालन नहीं कर रहे हैं, 45 पर्सेंट लोग कुछ हद तक पालान कर रहे हैं और सिर्फ 11 पर्सेंट लोग ही सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन कर रहे हैं. 

कोरोना से हुई है मौत तो परिवार को मिलेगी 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद, CM केजरीवाल का ऐलान


वैक्सिनेशन सेंटर में कोविड से बचने के लिए सही बर्ताव का 44 पर्सेंट लोग सही से पालन कर रहे हैं, 48 पर्सेंट थोड़ा पालन कर रहे हैं और 6 पर्सेंट बिल्कुल पालन नहीं कर रहे हैं. ट्रैवलिंग के दौरान कोविड अप्रोप्रिएट बिहेवियर का पालन सिर्फ 15 पर्सेंट लोग कर रहे हैं. 58 पर्सेंट कुछ हद तक इसका पालन कर रहे हैं और 25 पर्सेंट लोग इसका बिल्कुल पालन नहीं कर रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अफवाह बनाम हकीकत: डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ 8 गुना कम असरदार वैक्सीन!