'हम भारी भुखमरी की राह पर हैं' : किसानों के प्रदर्शन के बीच बोले नवजोत सिंह सिद्धू

सिद्धू ने लिखा, 'ग्‍लोबल हंगर इंडेक्‍स के 107 देशों में भारत का स्‍थान 94वां है. हम भारी भुखमरी/अकाल की कगार पर है. अकाल, खाद्य सामग्री की कमी के कारण नहीं होगा. खाद्यान्‍न/खाद्य सामग्री तो है लेकिन पूंजीवादियों के कोल्‍ड स्‍टोरेज और वेयरहाउस में जमा है

'हम भारी भुखमरी की राह पर हैं' : किसानों के प्रदर्शन के बीच बोले नवजोत सिंह सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू ने देश के किसानों की हालत को लेकर ट्वीट किए हैं

खास बातें

  • किसानों के आंदोलन के बीच सिद्धू ने किए ट्वीट
  • कहा, किसान मेहनत करते हैं लेकिन पूंजीवादी कमाते हैं
  • खाद्यान्‍न पूंजीवादियों के कोल्‍ड स्‍टोरेज/वेयरहाउस में जमा है
चंडीगढ़:

Farmers Protest: देश की राजधानी दिल्‍ली और इसके आसपास के क्षेत्रों में चल रहे किसान आंदोलन को बीच कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Congress leader Navjot Singh Sidhu)ने मंगलवार को दावा किया कि देश भूख और अकाल (hunger and famine) की राह पर है. कई वर्षों तक बीजेपी से राजनीति करने के बाद कांग्रेस से जुड़े सिद्धू ने देश में धन/संपदा के असमान वितरण (Unequal distribution) पर असंतोष जताया. सिद्धू ने एक ट्वीट करके कहा, 'भारत के एक फीसदी सबसे धनवानों के पास, नीचे के 70 फीसदी की तुलना में ज्‍यादा संपत्ति है. गरीब कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन धनवानों की संपत्ति में इजाफा होता है. किसान श्रम करते हैं लेकिन पूंजीवादी कमाते हैं. पिछले छह माह में अंबानी ने हर घंटे अपनी संपत्ति में 90 करोड़ रु. जोड़े हैं जबकि अडानी की संपत्ति 61 फीसदी बढ़ी है.'

किसान आंदोलन : खट्टर के आवास की ओर कूच कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पानी की बौछार

किसान आंदोलन से सबक लेगी कांग्रेस, उसका भविष्य अभी भी उज्ज्वल : शत्रुघ्न सिन्हा

उन्‍होंने ग्‍लोबल हंगर इंडेक्‍स में भारत की कमजोर रैंक की ओर भी इशारा किया. सिद्धू ने लिखा, 'ग्‍लोबल हंगर इंडेक्‍स के 107 देशों में भारत का स्‍थान 94वां है. हम भारी भुखमरी/अकाल की कगार पर है. अकाल, खाद्य सामग्री की कमी के कारण नहीं होगा. खाद्यान्‍न/खाद्य सामग्री तो है लेकिन पूंजीवादियों के कोल्‍ड स्‍टोरेज और वेयरहाउस में जमा है और गरीबो की क्रय क्षमता से बाहर है.'


केंद्र से बातचीत के लिए राजी किसान संगठन के नेताओं की रणनीति

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com