BJP नेता मिनाक्षी लेखी का ग्रेटा थनबर्ग पर निशाना- हमें जिस षड्यंत्र का अंदेशा था, उसके सबूत सामने आए

ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट किया था, ‘हम भारत में किसानों के आंदोलन के प्रति एकजुट हैं.' इस पर भारत सरकार की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई थीं.

BJP नेता मिनाक्षी लेखी का ग्रेटा थनबर्ग पर निशाना- हमें जिस षड्यंत्र का अंदेशा था, उसके सबूत सामने आए

भाजपा नेता मिनाक्षी लेखी.

नई दिल्ली:

Farmer Protest : पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन की दिशा में काम करने वाली ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसानों के प्रदर्शनों के प्रति समर्थन व्यक्त किया था. थनबर्ग ने ट्वीट किया था, ‘हम भारत में किसानों के आंदोलन के प्रति एकजुट हैं.' इस पर भारत सरकार की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई थीं. बुधवार को भाजपा नेता मिनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने कहा कि ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से जिस षड्यंत्र का हमें हमेशा अंदेशा था, उसका सबूत अब सामने आ गया है कि किस तरह से षड्यंत्र चल रहा है. उन्होंने कहा कि ग्रेटा थनबर्ग एक बच्ची है अगर मेरे हाथ में होता तो मैं उसे बाल पुरस्कार देती. उसका नाम नोबेल प्राइज से हटा देती.

उन्होंने कहा, 'नोबेल प्राइज वातावरण की सुरक्षा के लिए अच्छे कामों के लिए दिया जाता है लेकिन यहां तो जो लोग पराली जलाते हैं, वातावरण को प्रदूषित करते हैं. पानी का दुरुपयोग करते हैं. ग्रेटा थनबर्ग उनके साथ खड़ी हो गई है. यह दोहरा चेहरा इस पूरे कार्यक्रम का अब सामने आ गया है.'

BJP के लिए गले की हड्डी क्यों बन गए हैं किसान, कहां-कहां चुनाव में उठाना पड़ सकता है नुकसान...?

थनबर्ग से पहले गायिका रिहाना ने एक खबर साझा की थी जिसमें कई क्षत्रों में इंटरनेट सेवा बंद करने और किसानों के खिलाफ केन्द्र की कार्रवाई का जिक्र किया गया था.' रिहाना ने ट्वीट किया,‘‘ हम किसानों के आंदोलन के बारे में बात क्यों नहीं कर रहे हैं?' इसके बाद की विदेशी सेलेब्स ने इस मुद्दे को लेकर ट्वीट किए थे. 

नवजोत सिद्धू ने शायराना अंदाज में मोदी सरकार पर साधा निशाना, लोग तलाश रहे इसके मायने..

हालांकि, इसके बाद भारत सरकार ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इस पर एतराज जताया था. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बुधवार को कहा था कि भारत को निशाना बनाने वाले प्रेरित अभियान कभी सफल नहीं होंगे. किसानों के प्रदर्शन का पॉप गायिका रिहाना और जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग द्वारा समर्थन करने पर दिन में विदेश मंत्रालय की कड़ी प्रतिक्रिया आने के बाद जयशंकर ने यह टिप्पणी की थ. जयशंकर ने हैशटैग ‘इंडिया टूगेदर' (भारत एकजुट है) और ‘इंडिया अगेनस्ट प्रोपगेंडा' (दुष्प्रचार के खिलाफ भारत) के साथ ट्वीट किया, ‘भारत को निशाना बनाने वाले प्रेरित अभियान कभी सफल नहीं होंगे.'

Video :सिंघु बॉर्डर पर किलेबंदी से लोग परेशान, ग्राउंड रिपोर्ट


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com