'BJP के कहने पर BSP कर रही है सब कुछ', बसपा से कांग्रेस में आए विधायक का बयान

पूर्व में बीएसपी और अब कांग्रेस के विधायक लखन मीणा ने सोमवार को राजस्थान के सियासी घटनाक्रम के लिए बीजपी पर निशाना साधा है.

'BJP के कहने पर BSP कर रही है सब कुछ', बसपा से कांग्रेस में आए विधायक का बयान

जारी है राजस्थान का सियासी रण

जयपुर:

पूर्व में BSP और अब कांग्रेस (Congress) के विधायक लखन मीणा (Lakhan Meena) ने सोमवार को राजस्थान के सियासी घटनाक्रम के लिए बीजपी पर निशाना साधा है. बता दें कि बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने पिछले साल कांग्रेस (Congress) में शामिल होने के लिए पार्टी छोड़ने वाले 6 विधायकों को विधानसभा में शक्ति परीक्षण के दौरान गहलोत के खिलाफ मतदान करने का रविवार को व्हिप जारी किया है. इस पर लखन मीणा ने बीएसपी पर सवाल उठाते हुए कहा कि बसपा को एक साल बाद हमारी याद क्यों आई. उन्होंने कहा कि हमने जो किया कानून के आधार पर किया, विलय के लिए दो तिहाई विधायक चाहिए होते हैं. हम तो सारे 6 विधायक कांग्रेस में आ गए थे. उन्होंने आरोप लगाया कि बीएसपी, बीजेपी के कहने पर ये सब कर रही है, उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस की चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने की कोशिश है. लखन मीणा के कहा कि हमने जो किया वो अपने क्षेत्र के विकास के लिए किया. बकौल मीणा हमने अपने निर्णय के बारे में उस वक़्त ही मायावती जी को बता दिया था. 

BSP के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ दी गई याचिका बीजेपी विधायक ने वापस लिया

आपको बता दें कि बसपा विधायकों के कांग्रेस नें विलय को लेकर बीजेपी मदन दिलावर ने राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिसे वापस ले लिया गया है. दिलावर ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ स्पीकर के सामने दायर याचिका पर कार्रवाई नहीं होने को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. दिलावर ने स्पीकर के सामने 4 महीने पहले बसपा एमएलए लखन सिंह (करौली), राजेन्द्र सिंह गुढ़ा (उदयपुरवाटी), दीपचंद खेड़िया (किशनगढ़ बास), जोगेन्दर सिंह अवाना (नदबई), संदीप कुमार (तिजारा) और वाजिब अली (नगर, भरतपुर) के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ स्पीकर से शिकायत की थी. 

विधानसभा सत्र बुलाने का आग्रह खारिज होने के बाद राजस्थान के CM बोले, "गवर्नर के व्यवहार को लेकर कल PM से बात की..."


दरअसल मदन दिलावर ने याचिका दाखिल की थी कि स्पीकर फैसला नहीं ले रहे हैं. अब उनको बता दिया गया है कि स्पीकर ने 24 जुलाई को उनकी याचिका खारिज कर दी है क्योंकि उन्होंने नियमों का पालन नहीं किया है. हाईकोर्ट में उनके वकील हरीश साल्वे ने कहा कि वो अब स्पीकर के आदेश को चुनौती देंगे इसलिए याचिका वापस ले रहे हैं. हाईकोर्ट ने इसकी इजाजत दे दी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: राजस्थान संकट को लेकर गहलोत का PM मोदी और BJP पर हमला