भारत-चीन के बीच कमांडर स्तर की बातचीत में डिसइंगेजमेंट की प्रक्रिया शुरू करने पर जोर : सूत्र

दोनों पक्षों में एलएसी पर तनाव को कम करने पर सहमति बनी, स्वीकार किया गया कि एलएसी पर डिसइंगेजमेंट एक जटिल विषय, अफवाहों को अनदेखा किया जाए

भारत-चीन के बीच कमांडर स्तर की बातचीत में डिसइंगेजमेंट की प्रक्रिया शुरू करने पर जोर : सूत्र

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

भारत और चीन एलएसी पर तनाव को लेकर सैन्य स्तर पर और कूटनीतिक स्तर पर लगातार बातचीत कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक 30 जून को भारत की तरफ चुशूल में भारतीय सेना के कमांडर और पीएलए के कमांडर के बीच बातचीत हुई. कमांडर स्तर पर यह तीसरे दौर की बातचीत थी जिसमें एलएसी पर जहां-जहां तनाव बना हुआ है वहां पर किस प्रकार तनाव कम किया जाए और डिसइंगेजमेंट की प्रक्रिया की शुरुआत हो, इस पर चर्चा हुई. दोनों पक्षों ने चरणबद्ध तरीके से तेजी के साथ डीएस्केलेशन को प्राथमिकता देते हुए इस पर जोर दिया.

विदेश मंत्रियों के बीच 17 जून को बातचीत के बाद जो सहमति बनी थी उसमें कहा गया था कि हालात को परिपक्वता के साथ और जिम्मेदारी के साथ सुलझाया जाए और 6 जून को जो डिसइंगेजमेंट पर जो सहमति बनी थी उसे लागू किया जाए.


सूत्रों के मुताबिक चुशूल में कल कोरोना को देखते हुए प्रोटोकॉल का पालन करते हुए बातचीत हुई जिसमें दोनों पक्षों में एलएसी पर तनाव को कम करने पर सहमति बनी साथ यह स्वीकार किया गया कि एलएसी पर डिसइंगेजमेंट एक जटिल विषय है ऐसे में आधारहीन और अफवाहों की अनदेखी की जानी चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आने वाले दिनों में सैन्य स्तर पर और कूटनीतिक स्तर पर दोनों पक्षों के बीच और भी बातचीत होगी जिससे एलएसी पर शांति की स्थापना की जा सके.