सीबीआई को अपनी आवाज का नमूना देने से डॉन ने किया साफ इनकार

सीबीआई को अपनी आवाज का नमूना देने से डॉन ने किया साफ इनकार

छोटा राजन

मुंबई:

पत्रकार जेडे हत्याकांड में अंडरवर्ल्ड छोटा राजन की भूमिका की जांच कर रही सीबीआई को झटका लगा है। डॉन के पास आवाज का नमूना लेने तिहाड़ जेल गई सीबीआई को ख़ाली हाथ लौटना पड़ा है। सीबीआई को डॉन की आवाज का नमूना चाहिए, लेकिन तिहाड़ जेल में बंद डॉन ने मना कर दिया है।

डॉन ने सीबीआई से कहा कि अपने वकील की सलाह और अदालत के निर्देश के बाद ही तय करूंगा। शुक्रवार को अदालत में सीबीआई ने यह जानकारी देते हुए आवाज का नमूना लेने के लिए आदेश देने की मांग की। पत्रकार जेडे हत्याकांड में आरोपी डॉन छोटा राजन ने पत्रकारों को फोन कर दावा किया था कि उसी ने जेडे की हत्या करवाई, क्योंकि उसे शक था कि जेडे अपनी खबरों के जरिए उसकी छवि खराब कर रहे थे और उसके दुश्मन छोटा शकील को टिप दे रहे थे।

यह तब की बात है, जब छोटा राजन विदेशों में छिपा था, इसलिए उसे फर्क नहीं पड़ता था। लेकिन, अब वो भारत की जेल में हैं और उसका दावा उसे मुसीबत में डाल सकता है। पर यह तभी हो सकता है जब सीबीआई अदालत में यह साबित कर पाएगी कि फोन पर बोलने वाला शख्स और जेल में बंद छोटा राजन दोनों की आवाज एक ही है।

इसके लिए जरूरी है कि राजन के आवाज का नमूना लिया जाए। अब 11 फरवरी को सीबीआई की अर्जी पर सुनवाई होगी। छोटा राजन के वकील अंशुमन सिन्हा उस दिन राजन का पक्ष रखेंगे। ऑर्थर रोड जेल में बनी विशेष अदालत में नए जज एसएस अडकर को अर्जी देकर सीबीआई ने मुंबई क्राइम ब्रांच के पास मामले से जुड़ी सीडी और बाकी सबूत दिया जाए ताकि उसे फॉरेंसिक जांच के लिए भेज सके।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


छोटा राजन के खिलाफ मुंबई और महाराष्ट्र में दर्ज सभी 71 मामलों की सुनवाई अब इसी अदालत में होगी। पत्रकार जेडे की जून 2011 में सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मामले में पहले से गिरफ्तार 10 आरोपियों पर आरोप तय हो चुके हैं। लेकिन, हाल ही इंडोनेशिया से भारत लाए गए डॉन छोटा राजन पर अभी आरोप तय होना बाकी है। अदालत ने राजन के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट फाइल करने के लिए और एक महीने के वक्त दिया है।