एयर इंडिया का विनिवेश 2021-22 में होगा पूरा, विमानन मंत्रालय को 3,224 करोड़ रुपये का आवंटन

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को अपने बजट भाषण में कहा कि एयर इंडिया का विनिवेश 2021-22 में पूरा हो जाएगा और इस राष्ट्रीय विमान वाहक के वित्तीय पुनर्गठन के तहत एक विशेष विशेष प्रयोजन वाहन के गठन के लिए 2,268 करोड़ रुपये आवंटित किए.

एयर इंडिया का विनिवेश 2021-22 में होगा पूरा, विमानन मंत्रालय को 3,224 करोड़ रुपये का आवंटन

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण - फाइल फोटो

नई दिल्ली:

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को अपने बजट भाषण में कहा कि एयर इंडिया का विनिवेश 2021-22 में पूरा हो जाएगा और इस राष्ट्रीय विमान वाहक के वित्तीय पुनर्गठन के तहत एक विशेष विशेष प्रयोजन वाहन के गठन के लिए 2,268 करोड़ रुपये आवंटित किए. एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया जारी है. कई पक्षों ने पिछले महीने विमान वाहन के लिए अपने अभिरुचि पत्र (ईओआई) सरकार को दिए हैं. उम्मीद है कि सरकार आने वाले सप्ताहों में योग्य बोलीदाताओं के नामों का ऐलान करेगी.

ऋणग्रस्त राष्ट्रीय विमानन कंपनी के वित्तीय पुनर्गठन के तहत एयर इंडिया एसेट होल्डिंग लिमिटेड के नाम से एक विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) की स्थापना की गई है. वित्त वर्ष 2021-22 के बजट दस्तावेजों के अनुसार इस एसपीवी को अगले वित्त वर्ष के लिए 2,268 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि एयर इंडिया और पवन हंस का विनिवेश 2021-22 में पूरा होगा.


वर्ष 2021-22 के आम बजट में नागरिक उड्डयन मंत्रालय को 3,224 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जो चालू वित्त वर्ष के लिए आवंटित राशि 4,131 करोड़ रुपये से 22 प्रतिशत कम है. पिछले साल के बजट में मंत्रालय के लिए 3,797 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे, लेकिन बाद में इसे संशोधित कर 4,131 करोड़ रुपये तक बढ़ा दिया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सरकार ने सोमवार को 2021-22 के लिए क्षेत्रीय संपर्क योजना उड़ान के लिए 600 करोड़ रुपये का आवंटन किया, जो चालू वित्त वर्ष के मुकाबले 14.28 प्रतिशत कम है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)