दिल्ली की नाबालिग को राजस्थान ले जाकर 60 हजार में बेचा, 1 महीने बाद पुलिस ने कराया रिहा

क्राइम ब्रांच ने इस मामले में लड़की को रिहा कराकर 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

दिल्ली की नाबालिग को राजस्थान ले जाकर 60 हजार में बेचा, 1 महीने बाद पुलिस ने कराया रिहा

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

दिल्ली के हैदरपुर इलाके की रहने वाली एक 15 साल की नाबालिग लड़की बीते 16 सितंबर से लापता थी, उसके अपहरण का केस शालीमार बाग थाने में दर्ज था,अब क्राइम ब्रांच ने इस मामले में लड़की को रिहा कराकर 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार के मुताबिक पुलिस टीम ने पीड़िता के परिजनों और दोस्तों से पूछताछ की. यह पाया गया कि नाबालिग लड़की गांव हैदरपुर निवासी नीरज सोनकर नाम के एक स्थानीय लड़के के नियमित संपर्क में थी. आगे की जांच में पता चला कि नीरज सोनकर पीड़िता को रोहिणी की रहने वाली मुस्कान के साथ उत्तर प्रदेश के आगरा में अपनी तीसरी सहयोगी शीतल के घर ले गया था.


शीतल की मदद से उन्होंने लड़की को राजस्थान के सीकर के रहने वाले गोपाल लाल को 60 हज़ार रुपये में बेच दिया था. नीरज और शीतल ने 30- 30 हज़ार रुपये बांट लिए थे. गोपाल लाल ने  लड़की को अपने बहनोई दानवीर से शादी करने के लिए खरीदा था, दानवीर भी सीकर का रहने वाला है. पुलिस टीम ने पहले आगरा और फिर सीकर का दौरा किया. पुलिस टीम के साथ लड़की का भाई भी गया था, नाबालिग लड़की को राजस्थान के सीकर स्थित गोपाल लाल के घर से छुड़ाया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गोपाल लाल, नीरज सोनकर और पीड़ित को दिल्ली लाया गया, आगरा की शीतल और दिल्ली की मुस्कान के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है. दानवीर उर्फ ​​दाना फरार है. उसका पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं. मामले में आगे की जांच जारी है.