Cyclone Tauktae: दो बड़ी नौकाओं पर सवार 400 से ज्‍यादा लोगों को बचाने के लिए नौसेना ने रवाना किए तीन शिप

नौसेना के अधिकारी ने बताया कि दो बजरों (बड़ी नाव) की मदद के लिए आईएनएस कोलकाता, आईएनएस कोच्चि और आईएनएस तलवार को तैनात किया गया है.

नई दिल्‍ली :

Cyclone Tauktae: भारतीय नौसेना ने मुंबई तट के नजदीक ताउते चक्रवाती तूफान Tauktae की वजह से दो बजरों (बड़ी नाव) पर फंसे करीब 400 लोगों को बचाने के लिए मिले संदेश के बाद सोमवार को अग्रिम मोर्चे के अपने तीन पोतों को तैनात किया है. नौसेना के अधिकारी ने बताया कि दो बजरों की मदद के लिए आईएनएस कोलकाता, आईएनएस कोच्चि और आईएनएस तलवार को तैनात किया गया है. नौसेना के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने बताया, ‘‘बंबई हाई इलाके में स्थित हीरा तेल क्षेत्र में बजरा ‘पी-305' की मदद के लिए आईएनएन कोच्चि को बचाव में मदद के लिए भेजा गया है, उस बजरे पर 273 लोग सवार हैं.

Cyclone Tauktae:गुजरात में दो दशक के सबसे भयंकर तूफान ने दी दस्तक,महाराष्ट्र-कर्नाटक में 12 मरे

उन्होंने बताया कि आईएनएस तलवार को भी खोज एवं राहत अभियान के लिए तैनात किया गया है. कमांडर मधवाल ने बताया, ‘‘जीएएल कंस्ट्रक्टर' नामक बजरे से भी आपात संदेश मिला था जिस पर 137 लोग सवार हैं और वह मुंबई तट से आठ नॉटिकल मील दूर स्थित है जिसकी मदद के लिए आईएनएस कोलकाता को रवाना किया गया है.''उन्होंने बताया कि अन्य पोत और विमान भी ताउते तूफान के मद्देनजर मानवीय सहायता एवं आपदा राहत के लिए तैयार हैं.


तूफान ताउते : जानिए कैसे बनती है 'साइक्लोन की आंख', छोटी-बड़ी चक्रवाती आंख की खूबियां

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि चक्रवाती तूफान ताउते के कारण अरब सागर में उठी तूफानी लहरों के कारण एक बजरा (बड़ी नाव) बिना लंगर के समुद्र में बह गया था. इस नाव पर 273 लोग सवार हैं. ‘नौसेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि बांबे हाई आयल के हीरा तेल क्षेत्र से बजरा संख्या ‘पी305' के बहने और सहायता का अनुरोध मिलने पर अलर्ट भेजा गया. आईएनएस कोच्चि को तुरंत खोज और बचाव कार्य के लिए रवाना किया गया है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)