'कांग्रेस टूलकिट' केस में 2 कांग्रेस नेताओं को नोटिस, पुलिस को 'मैनिपुलेटेड मीडिया' टैग देने वाले की तलाश

कांग्रेस के दो नेताओं- राजीव गौड़ा और रोहन गुप्ता को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नोटिस भेजा है. जानकारी है कि कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रमुख रोहन गुप्ता और प्रवक्ता एमवी राजीव गौड़ा को बयान दर्ज करने के लिए नोटिस भेजे गए हैं. 

'कांग्रेस टूलकिट' केस में 2 कांग्रेस नेताओं को नोटिस, पुलिस को 'मैनिपुलेटेड मीडिया' टैग देने वाले की तलाश

स्पेशल सेल सोमवार को गुरुग्राम में ट्विटर के ऑफिस पहुंची थी.

नई दिल्ली:

कांग्रेस टूलकिट का मामला फिलहाल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर के ऑफिस तक पहुंचा हुआ है. वहीं मंगलवार को कांग्रेस के दो नेताओं-  राजीव गौड़ा और रोहन गुप्ता को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नोटिस भेजा है. जानकारी है कि कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रमुख रोहन गुप्ता और प्रवक्ता एमवी राजीव गौड़ा को बयान दर्ज करने के लिए नोटिस भेजे गए हैं. 

इन दोनों ने 19 मई को संबित पात्रा के ट्वीट के खिलाफ तुगलक रोड थाने में शिकायत दी थी. राजीव गौड़ा का कहना है कि हमने दिल्ली पुलिस के नोटिस का जवाब दे दिया है कि हमारी शिकायत पर छत्तीसगढ़ में भी मुकदमा दर्ज हो गया है. हम मामला वहां आगे बढ़ाएंगे. 

वहीं, दिल्ली पुलिस की सेल को ट्विटर पर पात्रा के ट्वीट पर मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग (Twitter Manipulated Tag) देने वाले की तलाश है. सेल के अधिकारी सोमवार को दिल्ली-एनसीआर में स्थित ट्विटर के ऑफिस भी पहुंची थी.

'दो बार मेल किया गया था'

सेल ने बताया है कि इसके पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मेल भी किया गया था, लेकिन ठोस जवाब न मिलने पर पुलिस उनके ऑफिस पहुंची. स्पेशल सेल के मुताबिक ट्विटर को 2 बार मेल किए गए. उनसे यह पूछा गया कि मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग देने वाला कौन है और इसका क्या आधार है. 

क्या भारत में दो दिन बाद फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसी सोशल मीडिया कंपनियां काम करना बंद कर देंगी?

लेकिन ट्विटर की तरफ से एक टॉप अधिकारी ने जवाब दिया वो इसके लिए जिम्मेदार नहीं है. दिल्ली पुलिस ने फिर मेल किया तो कोई जबाब नहीं मिला. इसके बाद कल दिल्ली पुलिस ट्विटर के गुरुग्राम और लाडो सराय के दफ्तर पहुंची, लेकिन वहां उन्हें कोई नहीं मिला. पुलिस ने मामले में शिकायत के आधार पर जांच शुरू की है और अभी तक कोई केस दर्ज नहीं हुआ है. पुलिस उस शख्स का पता लगाना चाहती है जिसने ट्वीट को मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग दिया.

आईटी मंत्रालय ने जताया था एतराज


दरअसल, टूलकिट को लेकर BJP प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट को मैनिपुलेटेड (हेर-फेर किया हुआ) टैग दे दिया था. सूत्रों का कहना है कि इसको लेकर केंद्र सरकार ने ट्विटर से एतराज भी जताया था. सरकार ने तर्क दिया है कि क्योंकि यह मामला अभी जांच के अधीन है, लिहाजा उसे टैग दिया जाना सही नहीं है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सूत्रों के अनुसार, आईटी मंत्रालय ने ट्विटर की ग्लोबल टीम को पत्र लिखा है और कुछ नेताओं के ट्वीट के साथ ‘हेरफेर कर पेश किए गए मीडिया टैग'  पर आपत्ति दर्ज कराई थी. ये ट्वीट कथित रूप से कोविड-19 महामारी के खिलाफ सरकार की कोशिशों को कमतर दिखाने, पटरी से उतारने और बदनाम करने के लिए बनाए गए टूलकिट के संदर्भ में किए गए थे.