देश भर में कैमिस्‍टों की हड़ताल : ऑनलाइन दवा कारोबार के खिलाफ कमजोर शुरुआत

देश भर में कैमिस्‍टों की हड़ताल : ऑनलाइन दवा कारोबार के खिलाफ कमजोर शुरुआत

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

नई दिल्‍ली:

चेन्नई में विरोध, हैदराबाद में बंद। मुंबई में कई जगहों पर मुश्किल तो वाइजैग में मिलाजुला असर। नागपुर की कुछ दुकानों ने भी शटर डाउन रखा तो परेशानी भोपाल के लोगों को भी हुई। पर रही बात राजधानी की तो यहां बंद का असर शायद ही देखने को मिला। दरअसल, ये बंद दवाओं की ऑन लाइन बिक्री के खिलाफ बुलाया गया, जिनकी मांग है कि ऑनलाइन दवाएं बेचने वाली कंपनियों पर नकेल कसी जाए।

दिल्ली में नहीं दिखा असर
ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ कैमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स दिल्ली के जंतर-मंतर पर दवा कारोबारियों की भीड़ तो जुटाने में कामयाब रहा, लेकिन बाजार पर उसका असर नहीं दिखा। कुछेक जगहों को छोड़कर दवा के दुकानदारों ने दुकानें खुली रखीं। कहना साफ था कि एक तरफ मरीजों की परेशानी है तो दूसरी तरफ रोजी रोटी। दरियागंज की जो दुकानें 12 बजे तक बंद रहीं, उसके बाद उनका शटर भी उठ गया। AIOCD के महासचिव सुरेश गुप्ता ने कहा कि अगर सरकार ऑनलाइन का कारोबार बंद नहीं करवाती, उन पर कार्रवाई नहीं करती तो फिर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर जाएंगे।

ऑनलाइन के दौर में कितना जोर पकड़ेगा विरोध कहना मुश्किल
ऑनलाइन खरीद एक तरफ जहां विकल्प देता है, वहीं होम डिलिवरी और ज्यादा छूट की सुविधा भी। जाहिर है कि ऐसे में दवा दुकानदारों को अपना धंधा मंदा पड़ने की आशंका है। दूसरी तरफ बढ़ते ऑनलाइन शॉपिंग के दौर में ये विरोध कितना जोर पकड़ेगा कहना मुश्किल है, खासकर तब जबकि शुरुआत कमजोर हो।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विरोध करने वालों का तर्क, इंटरनेट पर दवा बिक्री स्वास्थ्य के लिए भी ठीक नहीं
हड़ताल के समर्थन में चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में 35,000 केमिस्ट और थोक विक्रेताओं ने आज अपनी दुकानें बंद रखीं। चंडीगढ़ केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय आनंद ने कहा कि यह बंद देशभर के आठ लाख केमिस्टों के समर्थन में है। दवा दुकानदारों का कहना है कि इंटरनेट के जरिये दवाओं की बिक्री को मंजूरी देने से न सिर्फ आठ लाख दवा विक्रेताओं की मौजूदा वितरण पर असर होगा बल्कि यह जन स्वास्थ्य के लिए भी ठीक नहीं होगा। ऑन लाइन बिक्री में पर्चे के साथ आसानी से हेरा-फेरी की जा सकती है और यह इसे विभिन्न सेवा प्रदाताओं के मंच पर अपलोड किया जा सकता है और डाक्टर ने जितनी सलाह दी है उससे अधिक मात्रा में दवा खरीदी जा सकती है।