BSNL ने साढ़े छह साल में 9.22 करोड़ मोबाइल, 1.35 करोड़ लैंडलाइन उपभोक्ता गंवाए: RTI

बीएसएनएल के उप महाप्रबंधक (बिक्री एवं विपणन) की ओर से जारी अन्य जवाब में बताया गया है कि जनवरी 2015 से मई 2021 तक मोबाइल के कुल 9,22,10,990 ग्राहकों ने कनेक्शन वापस किए हैं.

BSNL ने साढ़े छह साल में 9.22 करोड़ मोबाइल, 1.35 करोड़ लैंडलाइन उपभोक्ता गंवाए: RTI

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

दूरसंचार क्रांति के दौर में सार्वजनिक क्षेत्र की प्रमुख सरकारी कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने पिछले लगभग 78 माह में अपने 9.22 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता गंवाए हैं. बीएसएनएल ने सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत मांगी गई जानकारी में बताया है कि बीते छह वित्त वर्षों में करीब 1.35 करोड़ लैंडलाइन ग्राहकों ने भी कनेक्शन वापस कर दिए हैं, जबकि इसी दौरान कंपनी ने 50 लाख से अधिक लैंडलाइन उपभोक्ताओं को जोड़ा भी है. ‘पीटीआई-भाषा' ने बीएसएनएल से सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत जनवरी 2015 से मई 2021 तक मोबाइल और लैंडलाइन कनेक्शन वापस करनेवाले ग्राहकों की संख्या की जानकारी और नए उपभोक्ताओं को जोड़ने की संख्या के बारे में सूचना मांगी थी.

3GB डेली डाटा और 455 दिन की वैलिडिटी से लैस है BSNL का ये शानदार प्लान, जानें कीमत

वहीं, पीटीआई-भाषा' के एक अन्य आरटीआई आवेदन के जवाब में महानगर टेलीफोन निगम (एमटीएनएल) के अलग-अलग कार्यालयों ने बताया कि उसने जनवरी 2015 से मई 2021 के बीच कनेक्शन वापस करनेवाले करीब 73,059 ग्राहकों को जमानती राशि के तौर पर तकरीबन 11.50 करोड़ रुपये लौटाए हैं. जवाब के मुताबिक, हालांकि एमटीएनएल कनेक्शन वापस करनेवाले करीब 7,225 उपभोक्ताओं की जमानत राशि अभी बकाया है.

बीएसएनएल के उप महाप्रबंधक (सीडीएन) की ओर से जारी जवाब में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में 25,20,446, 2019-20 में 28,30,261, 2018-19 में 17,96,567, 2017-18 में 22,81,771, 2016-17 19,55,101 और 2015-16 में 22,08,713 उपभोक्ताओं ने अपने लैंडलाइन कनेक्शन वापस किए हैं. जवाब में यह भी बताया गया है कि उसने वित्त वर्ष 2020-21 में 3,35,084, 2019-2020 में 4,23,601, 2018-19 में 6,39,119, 2017-18 में 11,05,683, 2016-17 में 13,28,487 और 2015-16 में 12,02,655 नए उपभोक्ता जोड़े हैं. इसमें बताया गया है कि 31 मार्च 2021 तक बीएसएनएल के कुल लैंड लाइन ग्राहकों की संख्या 76,75,683 और कुल मोबाइल ग्राहकों की संख्या 11,63,20,795 है.

बीएसएनएल के उप महाप्रबंधक (बिक्री एवं विपणन) की ओर से जारी अन्य जवाब में बताया गया है कि जनवरी 2015 से मई 2021 तक मोबाइल के कुल 9,22,10,990 ग्राहकों ने कनेक्शन वापस किए हैं. इस बीच, ‘पीटीआई-भाषा' के एक अन्य आरटीआई आवेदन के जवाब में एमटीएनएल के भीकाजी कामा प्लेस के प्रबंधक की ओर से बताया गया है कि बीसीपी क्षेत्र में जनवरी 2015 से 31 मई 2021 के बीच कनेक्शन वापस करनेवाले 12,626 ग्राहकों को कुल 2,01,16,083 रुपये की सुरक्षा जमा लौटाई गई है. जवाब के मुताबिक, बीसीपी क्षेत्र में इस अवधि में कनेक्शन वापस करनेवाले 2,738 उपभोक्ताओं को जमानत राशि वापस नहीं की गई है. इस क्षेत्र में इस अवधि में 39,522 उपभोक्ताओं ने कनेक्शन वापस किए हैं जबकि 24454 नए कनेक्शन दिए गए हैं.

एमटीएनएल के महाप्रबंधक (पश्चिम) से मिले जबाव के अनुसार, पश्चिम क्षेत्र में एक जनवरी 2015 से 31 मई 2021 के बीच कनेक्शन वापस करनेवाले 24,266 ग्राहकों को 3,53,14,466 रुपये की सुरक्षा जमा वापस की गई है. उसने 3,721 उपभोक्ताओं को सुरक्षा जमा नहीं लौटाई है. एमटीएनएल के महाप्रबंधक (पूर्वी/टीवाई) की ओर से जारी जवाब में बताया गया है कि जनवरी 2015 से मई 2021 के बीच कनेक्शन वापस करनेवाले 28,923 ग्राहकों को सुरक्षा जमा के तौर पर 4,52,21,507 रुपये लौटाए गए हैं.

100GB डाटा से लैस BSNL का यह नया 447 रुपये का प्रीपेड प्लान, Airtel, Jio, और Vi के प्लान को देगा टक्कर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, महाप्रबंधक (केंद्रीय) के कार्यालय की ओर से आरटीआई आवेदन के जवाब में बताया गया है कि इस अवधि के दौरान 7,244 उपभोक्ताओं को 1,41,62,999 रुपये लौटाए गए हैं जबकि कनेक्शन वापस करनेवाले 766 ग्राहकों को सुरक्षा जमा वापस नहीं की गई है. दूरसंचार नियामक ट्राई ने हाल में एक रिपोर्ट में बताया कि देश में कुल टेलीकॉम उपयोगकर्ताओं की संख्या 119.85 करोड़ है. इसने बताया मोबाइल फोन क्षेत्र में मई 2021 तक बाजार में बीएसएनएल और एमटीएल की हिस्सेदारी 10.17 फीसदी थी जबकि निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 89.83 प्रतिशत है. ट्राई के मुताबिक, लैंडलाइन के क्षेत्र में बाजार में बीएसएनएल की हिस्सेदारी 48.72 फीसदी है जबकि एमटीएनएल की हिस्सेदारी 9.07 प्रतिशत है.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)