बिहार के खान मंत्री जनक राम की अपने अफसरों के ख़िलाफ़ शिकायत में कितनी सच्‍चाई है?

दरअसल, उस समय विभाग के प्रधान सचिव हरजोत कौर समेत अन्य अधिकारी राज्य के मुख्य सचिव के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग में व्यस्त थे और न तो उन्‍हें और न उनके स्टाफ़ के सदस्‍यों को मंत्रीजी के आने के बारे में ख़बर  थी.

बिहार के खान मंत्री जनक राम की अपने अफसरों के ख़िलाफ़ शिकायत में कितनी सच्‍चाई है?

करीब 15 मिनट के इंतजार के बाद मंत्री ने एक प्‍यून से स्‍वागत के तौर पर बुके ली

पटना :

बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) के राज्य में एक आम शिकायत उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी और विधायक करते हैं कि अधिकारी उनकी नहीं सुनते. राज्य के मुखिया नीतीश कुमार, अपने अधिकारियों के ख़िलाफ़ इस शिकायत की अनदेखी करते आए है. लेकिन बुधवार को अधिकारियों की मंत्रियों के प्रति इस 'अनदेखी' की झलक मिल ही गई. दरअसल हुआ ये कि खान और भूतत्व मंत्री जनक राम अपने समर्थकों के साथ दफ़्तर पहुँचे और साथ में कुछ मीडिया वाले भी थे, लेकिन कोई अधिकारी नहीं आया. ऐसे में क़रीब 15 मिनट इंतज़ार करने के बाद उन्होंने एक चपरासी से स्वागत के तौर पर मिलने वाली बुके ली और अपने बाइट में जमकर अधिकारियों के ख़िलाफ़ भड़ास निकाली.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दरअसल, उस समय विभाग के प्रधान सचिव हरजोत कौर समेत अन्य अधिकारी राज्य के मुख्य सचिव के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग में व्यस्त थे और उन्हें न तो मंत्री और न उनके स्टाफ़ के सदस्‍य को मंत्रीजी के आने के बारे में ख़बर  थी. वैसे, इस मामले में अधिकारियों का कहना था कि मंत्रीजी का विधिवत स्वागत तो वो मंगलवार को ही कर चुके थे और उन्होंने उसके फ़ोटो भी शेयर किया. अब देखना यह हैं कि मंत्री जनक राम सही में मुख्य मंत्री नीतीश कुमार से शिकायत करते हैं या बात को यहीं पर रफ़ा-दफ़ा करेंगे.