'विपक्ष तो बोलेगा, आपको सुनना होगा' : संसद में हंगामे के लिए ओवैसी ने सरकार को ठहराया जिम्मेदार

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि विपक्षी दल पेगासस मुद्दे, कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान लोगों की मौत, किसानों के आंदोलन सहित कई मुद्दों को उठाना चाहते हैं लेकिन सरकार सुनने और जवाब देने के लिए तैयार नहीं है.

'विपक्ष तो बोलेगा, आपको सुनना होगा' : संसद में हंगामे के लिए ओवैसी ने सरकार को ठहराया जिम्मेदार

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी.

हैदराबाद:

संसद के मॉनसून सत्र के बार-बार स्थगित होने के साथ एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को मौजूदा गतिरोध के लिए नरेंद्र मोदी नेतृत्व वाली सरकार को दोषी ठहराया और आरोप लगाया कि संसद में कामकाज नहीं होने के लिए सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार है.

हैदराबाद के सांसद ने संवाददाताओं से कहा कि विपक्षी दल पेगासस मुद्दे, कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान लोगों की मौत, किसानों के आंदोलन सहित कई मुद्दों को उठाना चाहते हैं लेकिन सरकार सुनने और जवाब देने के लिए तैयार नहीं है.

संसद के मानसून सत्र में सरकार और विपक्ष के हंगामे की वजह से बर्बाद हुए जनता के 133 करोड़ रुपए : सूत्र


ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष ओवैसी ने पूछा, ‘संसद चलाने की जिम्मेदारी सरकार की होती है. पेगासस पर बहस होने दें. सरकार क्यों डरी हुई है? वे क्या छिपाने की कोशिश कर रहे हैं. विपक्ष चाहता है कि संसद चले, लेकिन आप (सरकार) नहीं चाहते कि यह चले. आप हंगामे के बीच विधेयकों को पारित करना चाहते हैं. क्या यही लोकतंत्र है?''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘क्या संसद चलाना सरकार की जिम्मेदारी नहीं है? विपक्ष संसद में बोलेगा. आपको सुनना होगा... चाहे आप इसे मानो या न मानो. हमें बोलने का मौका नहीं दिया जा रहा है... अगर संसद नहीं चल रही है तो इसके लिए पूरी तरह से मोदी के नेतृत्व वाली सरकार जिम्मेदार है.''



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)