आर्मी ऑफिसर ने 12 दिन साइकिल चलाकर दुनिया की सबसे मुश्किल रेस में से एक पूरी की

लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू ने इंडोर 4,000 किलोमीटर पैडल चलाकर 'वर्चुअल' मंच पर आयोजित हुई 'रेस एक्रोस अमेरिका (आरएएएम) अपने नाम की.

आर्मी ऑफिसर ने 12 दिन साइकिल चलाकर दुनिया की सबसे मुश्किल रेस में से एक पूरी की

लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू ने 4,000 किलोमीटर पैडल चलाकर आरएएएम अपने नाम की.

मुंबई:

लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू ने इंडोर 4,000 किलोमीटर पैडल चलाकर 'वर्चुअल' मंच पर आयोजित हुई 'रेस एक्रोस अमेरिका (आरएएएम) अपने नाम की. साइकिलिंग में आरएएएम को मुश्किल रेस में से एक समझा जाता है. कोरोनावायरस के कारण इस साल आयोजकों ने इसे 'वर्चुअली' कराने का फैसला किया है, जिसमें पूरी दुनिया के साइकिल सवारों ने इंडोर ट्रेनर में प्रतिस्पर्धा की.

जहां 'टूर डि फ्रांस' चरणों में आयोजित होती है तो वहीं आरएएएम में साइक्लिस्ट को सोने के समय को भी त्यागकर निर्धारित समय में रेस पूरी करनी होती है. अमेरिका में होनी वाली रेस में यह कई जगहों पर होती है, जिसमें रेगिस्तान की गर्मी, पहाड़ी दर्रों की सर्दी और तेज हवाओं में साइकिल चलानी होती है.


वर्चुअल रेस में यह सब नहीं था, लेकिन अन्य चुनौतियां शामिल थीं जिसमें इंडोर में काफी लंबे समय तक साइकिल चलाने के अनुभव की कमी होना भी कई प्रतिस्पर्धियों के लिये मुश्किल रहा. कर्नल पन्नू ने रविवार की शाम को 12 दिन के बाद यह रेस पूरी की और अब वह सामान्य लोगों की तरह अपनी नींद लेना चाहते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुणे से बेंगलुरू में अपने सेना विमानन विंग बेस पर लौटते हुए उन्होंने कहा, 'आउटडोर में, आप सीट से उतरकर अपने शरीर को मोड़ लेते हो, लेकिन इंडोर में इस तरह की कोई सुविधा मौजूद नहीं थी क्योंकि साइकिल फ्रेम स्टैंड पर चिपका हुआ है.'