VIP कल्चर: सीएम फडणवीस के सहयोगी के लिए 1 घंटा रुकी रही AI फ्लाइट

VIP कल्चर: सीएम फडणवीस के सहयोगी के लिए 1 घंटा रुकी रही AI फ्लाइट

देवेंद्र फडणवीस (फाइल फोटो)

मुंबई:

देश में भले ही नेताओं के वीआईपी कल्चर को लेकर गुस्सा बढ़ता जा रहा हो लेकिन ऐसा लगता है कि नेताओं-मंत्रियों को इसकी फिक्र नहीं है। सोमवार को एयर इंडिया की फ्लाइट को महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस के सहयोगी को बोर्ड करवाने के चलते करीब 1 घंटे तक रोककर रखा गया।

50 मिनट की देरी से भरी उड़ान...

सूत्रों का कहना है कि सोमवार की सुबह मुंबई से न्यू यॉर्क जाने वाली फ्लाइट में बोर्ड होने के लिए सीएम फडणवीस जब एयरपोर्ट पहुंचे तो पता चला कि उनके मुख्य सचिव प्रवीण परदेशी आउटडेटेड पासपोर्ट के साथ एयरपोर्ट पहुंचे थे। ऐसे में उनका अपेडेटेड पासपोर्ट मंगवाया गया। इस  पूरी भागदौड़ में 50 मिनट का समय लगा और फ्लाइट को उड़ने में 50 मिनट की देरी हुई। सीएम अमेरिकी के सरकारी दौरे पर हैं और उनके प्रतिनिधि मंडल में उनके साथ परदेशी भी गए हैं।  

एयर इंडिया ने किया इंकार...
 
हालांकि एयर इंडिया का कहना है कि तकनीकी खामियों की वजह से उड़ान भरने में देरी हुई न कि ऐसे की किसी वाकयात की वजह से। एयर इंडिया की ओऱ से स्टेटमेंट दी गई कि देरी की वजह 'एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) और कुछ तकनीकी खराबी थी।'

एयर इंडिया क्रू के सूत्रों का कहना है कि सीएम फ्लाइट में  बैठ चुके थे जबकि परदेशी एंट्री गेट पर थे। तब  पता चला कि उनके पास वीजा नहीं है क्योंकि वह पुराना पासपोर्ट ले आए थे।

सीएम ने किया ट्वीट...

सीएम देवेंद्र फडणवीस खुद इस पूरे मामले पर ट्वीट करके सफ़ाई दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि यह आरोप पूरी तरह ग़लत और गुमराह करने वाला है कि मैंने न्यू यॉर्क जाने वाली फ़्लाइट में देरी के लिए दबाव डाला... मैं इसे सिरे से ख़ारिज करता हूं।
 


विपक्ष कर रहा कार्रवाई की मांग...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस मामले को लेकर विपक्ष ने भी सीएम फडणवीस पर निशाना साधा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने इस मामले में जांच और दोषी पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा है कि इन लोगों के लिए फ्लाइट डिले हो जाती है जिसकी जांच होनी चाहिए, जो भी दोषी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं, कांग्रेस नेता संजय झा के मीडिया में आ रहे बयान के अनुसार, उन्होंने भी इस मामले की निंदा करते हुए कहा कि फडणवीस सरकार की वीवीआईपी कल्चर के प्रदर्शन का यह पहला मामला नहीं है।