उत्तर प्रदेश, गुजरात के अख़बारों में दिल्ली सरकार ने छापा विज्ञापन, कैसे कर रहे हैं कोरोना पीड़ितों की मदद

विज्ञापन में कहा गया है कि इस योजना के माध्यम से दो प्रकार की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिसमें पहली 2500 रुपये की मासिक आर्थिक सहायता और दूसरी एक मुश्त 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि सहायता शामिल है. विज्ञापन में अरविंद केजरीवाल की तस्वीर भी छपी है.

उत्तर प्रदेश, गुजरात के अख़बारों में दिल्ली सरकार ने छापा विज्ञापन, कैसे कर रहे हैं कोरोना पीड़ितों की मदद

AAP संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी गुजरात और पंजाब का दौरा कर चुके हैं.

नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) की सत्ताधारी पार्टी आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों में जोर-शोर से जुट गई है.  इसके लिए आप ने गुजरात और उत्तर प्रदेश में दिल्ली सरकार का विज्ञापन छपवाया है. यानी दिल्ली सरकार की नीतियों के जरिए यूपी और गुजरात के लोगों को साधने की कोशिश हो रही है.

शुक्रवार (9 जुलाई, 2021) को गुजरात के अखबारों में छपे दिल्ली सरकार के विज्ञापन में गुजराती में कहा गया है, "कोविड से जो दुनिया छोड़ गए, उनके परिवारों के साथ है दिल्ली सरकार."  इस विज्ञापन में मुख्यमंत्री कोविड-19 परिवार आर्थिक सहायता योजना का उल्लेख किया गया है.

vrjht1jo
गुजरात के अखबारों में गुजराती में छपा दिल्ली सरकार का विज्ञापन

विज्ञापन में कहा गया है कि इस योजना के माध्यम से दो प्रकार की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिसमें पहली 2500 रुपये की मासिक आर्थिक सहायता और दूसरी एक मुश्त 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि सहायता शामिल है. विज्ञापन में अरविंद केजरीवाल की तस्वीर भी छपी है.

गुजरात में 'आप' नेताओं पर हमला, भाजपा पर आरोप, जानें क्या बोले अरविंद केजरीवाल


इसी तरह का विज्ञापन उत्तर प्रदेश के अखबारों में भी दिया गया है. दरअसल, आम आदमी पार्टी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी का प्रसार करना चाहती है और यूपी, गुजरात, पंजाब समेत उत्तराखंड में भी चुनाव लड़ना चाहती है. पिछले दिनों पार्टी सांसद संजय सिंह ने लखनऊ जाकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी. तब से दोनों दलों के बीच गठजोड़ की भी चर्चा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अरविंद केजरीवाल भी गुजरात और पंजाब का दौरा कर चुके हैं और पार्टी कार्यकर्ताओं को 2022 के विधान सभा चुनाव में जीत का मंत्र दे चुके हैं.