15 साल की उम्र में हो गई थी शादी, लेकिन थी पढ़ाई की ललक, एक मां ने 12वीं में टॉप 10 में बनाई जगह

त्रिपुरा(Tripura) की 19 वर्षीय लड़की ने 12वीं की परिक्षा  में टॉप की है. बल्कि रैंक भी हासिल की है. शुक्रवार को त्रिपुरा बोर्ड ऑफ सेकेंडरी (Tripura Of Board Of Education) एजुकेशन के द्वारा रिजल्ट जारी किए गए. परिणामों में संघमित्रा देब लिस्ट में दसवां स्थान प्राप्त किया.

15 साल की उम्र में हो गई थी शादी, लेकिन थी पढ़ाई की ललक, एक मां ने 12वीं में टॉप 10 में बनाई जगह

15 साल की उम्र में हो गई थी शादी

त्रिपुरा(Tripura) की 19 वर्षीय लड़की ने 12वीं की परिक्षा  में टॉप की है. बल्कि रैंक भी हासिल की है. शुक्रवार को त्रिपुरा बोर्ड ऑफ सेकेंडरी (Tripura Of Board Of Education) एजुकेशन के द्वारा रिजल्ट जारी किए गए. परिणामों में संघमित्रा देब लिस्ट में दसवां स्थान प्राप्त किया. आर्ट्स स्ट्रीम की छात्रा संघमित्रा टॉप 10 लिस्ट में नौवां स्थान प्राप्त करते हुए 92.6 प्रतिशत अंक लाई हैं. त्रिपुरा की रहने वाली 19 साल की लड़की, जिनकी 15 साल की उम्र में शादी हो गई थी और ढाई साल के बेटे की मां है, उसने न केवल अपनी कक्षा 12 की परीक्षा पास की है, बल्कि 12 वीं में टॉप भी किया. 

देब पूर्वोत्तर राज्य के गांधीग्राम शहर में ससुराल में रहती हैं, जो राज्य की राजधानी अगरतला से लगभग 10 किमी दूर स्थित है. उनके पति राजू घोष कश्मीर में तैनात बीएसएफ (सीमा सुरक्षा बल) के सिपाही हैं. संघमित्रा देब से जब बात कि गई तो उन्होंने कहा- मैं अपने घर के काम करने के साथ- साथ बच्चे की देखभाल करने के बाद जो भी समय मिलता था मैं अपना पढ़ाई करती थी. मेरे ससुराल वालों ने भी काफी मदद की है. मैं परिणामों से बहुत खुश हूं.


देब ने कहा- अब मैं इसी तरह से स्नातक भी पूरा करना चाहती हूं. एक स्थानीय स्कूल की छात्रा, उसने अपने एचएसएलसी (हाई स्कूल छोड़ने की परीक्षा) में 77 प्रतिशत अंक प्राप्त किए, सिर्फ इतना ही नहीं जो शादी के एक साल बाद तक बैठी रही. हालांकि, देब की शैक्षणिक सफलता बाल विवाह पर व्यापक चिंता का विषय नहीं है, जो राज्य के ग्रामीण हिस्सों में एक गंभीर और बारहमासी समस्या है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यंग लाइव्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक एजेंसी जो बच्चों की गरीबी का अध्ययन करती है, नेशनल हेल्थ एंड फैमिली सर्वे के डेटा से पता चलता है कि भारत में बाल विवाह के मामले में त्रिपुरा दूसरे स्थान पर है. यहां के सभी विवाहों में लगभग 21.6 प्रतिशत लोग 15 से 19 वर्ष की आयु के हैं. राष्ट्रीय औसत 11.9 प्रतिशत है, जो एक आंकड़ा है.