विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 29, 2022

Chaitra Navratri 2022: अष्टमी कब है? क्या है इसका महत्व और जानें 5 पारंपरिक अष्टमी भोग व्यंजन

भारत में साल भर में चार नवरात्रि होती हैं, जिनमें शरद नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि सबसे बड़े स्तर पर मनाया जाता है.

Read Time: 20 mins
Chaitra Navratri 2022: अष्टमी कब है? क्या है इसका महत्व और जानें 5 पारंपरिक अष्टमी भोग व्यंजन

वसंत के साथ ही गर्मी के दिनों शुरूआत होने लगती है. साथ ही, यह साल के सबसे बड़े हिंदू त्योहारों में से एक - नवरात्रि को भी साथ लाता है. भारत में साल भर में चार नवरात्रि होती हैं, जिनमें शरद नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि सबसे बड़े स्तर पर मनाया जाता है. इस दौरान हम चैत्र नवरात्रि मनाते हैं. हिंदू चंद्र-सौर कैलेंडर के अनुसार, हर साल चैत्र नवरात्रि चैत्र के महीने में मार्च या अप्रैल के आसपास आती है. इस साल, चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल, 2022 से शुरू हो रही है और 11 अप्रैल, 2022 को दशमी के साथ समाप्त होगी. इस दौरान, भक्त उपवास रखते हैं और हल्का सात्त्विक भोजन करते हैं. नवरात्रि के सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक अष्टमी है. कई भक्त इस दिन अपना उपवास तोड़ते हैं, जबकि कई लोग नवमी यानि के नौवें दिन अपना उपवास समाप्त करते हैं.

Advertisement

Chaitra Navratri 2022: यहां जाने सही समय, महत्व और व्रत में खाएं जाने वाले व्यंजन

Chaitra Navami 2022: अष्टमी तिथि और समय:

इस साल, चैत्र अष्टमी 9 अप्रैल, 2022 को पड़ रही है. इसे दुर्गा अष्टमी या महागौरी पूजा के रूप में भी जाना जाता है. इस दिन संधि पूजा भी की जाती है जो अष्टमी के अंत और नवमी की शुरुआत का प्रतीक है.

संधि पूजा 12:59 पूर्वाह्न, 10 अप्रैल, 2022 से शुरू होगी

संधि पूजा 01:47 पूर्वाह्न, 10,2022 अप्रैल को समाप्त होगी

(स्रोत: www.drikpanchang.com)

चैत्र नवरात्रि 2022: हम अष्टमी कैसे मनाते हैं:

जैसा कि पहले चर्चा की गई है, अष्टमी नवरात्रि के सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक है इस दिन कई लोग अपना व्रत खोलते हैं. ऐसा करने वाले दिन की शुरुआत अपने घरों की सफाई से करते हैं. वे स्नान करते हैं और देवी दुर्गा की पूजा करते हैं, यज्ञ करते हैं और भोग लगाते हैं. अष्टमी पूजा की तैयारियों में भोग की अहम भूमिका होती है. भक्त विभिन्न स्वादिष्ट व्यंजन तैयार करते हैं और उन्हें अपने प्रिय देवी को अर्पित करते हैं. भोग थाली के व्यंजन हर व्यक्ति में अलग-अलग होते हैं, लेकिन कुछ व्यंजन ऐसे होते हैं जो सभी के लिए एक समान रहते हैं. आइए कुछ क्लासिक भोग व्यंजनों पर एक नज़र डालें.

Advertisement

अष्टमी 2022: यहां देखें अष्टमी भोग के लिए 5 क्लासिक व्यंजन:

पूरी:

देश में सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले व्यंजनों में से एक, भोग थाली में पूरी होनी चाहिए. गेहूं का आटे को गूंधकर उस के गोले बनाकर बेल कर तैयार किया जाता है और पूरी तरह से सुनहरा भूरा होने तक तल लिया जाता है, पूरी बहुत स्वादिष्ट लगती है. व्यंजन के लिए यहां क्लिक करें.

Advertisement

सूखे चने:

एक सुपर आसान और मसालादार (मसालों से भरपूर) रेसिपी, काला चना मसालों के एक पूल में पकाया जाता है. इसे आमतौर पर पूरी के साथ जोड़ा जाता है और नवरात्रि के दौरान प्रसाद के रूप में परोसा जाता है. और हां, इसके साथ सूजी का हलवा बनाना न भूलें. व्यंजन के लिए यहां क्लिक करें.

Advertisement

हलवा:

सूखे चने सूजी के हलवे के बिना अधूरा लगता है. एक क्लासिक देसी डिजर्ट, सूजी का हलवा सूजी को भूनकर और घी और नट्स के साथ पकाकर तैयार किया जाता है. यहां आपके लिए क्लासिक सूजी का हलवा रेसिपी है.

Advertisement

खीर:

प्यार भंडारे वाली खीर? हमारे पास आपके लिए रेसिपी है. यहां एक फुल-प्रूफ रेसिपी है जो आपको सही स्थिरता और बनावट के साथ खीर बनाने में मदद करेगी. बस इसमें नट्स और ड्राई फ्रूट्स डालना न भूलें. व्यंजन के लिए यहां क्लिक करें.

दही भल्ला:

एक और लोकप्रिय अष्टमी रेसिपी है दही भल्ला. तले हुए वड़े मसालेदार दही में डिप किए जाते हैं, यह व्यंजन आपके उत्सव की दावत को बढ़ाने में मदद करता है. यहां आपके लिए एक आसान दही भल्ला रेसिपी है.

कचौरी खाने के हो क्रेविंग तो घर पर जरूर बनाएं स्वादिष्ट मोठ कचौरी

हैप्पी नवरात्रि 2022, सभी को!

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Benefits Of Sahjan: डायबिटीज में फायदेमंद हैं सहजन की पत्तियों का सेवन, जानें 6 अद्भुत लाभ!
Chaitra Navratri 2022: अष्टमी कब है? क्या है इसका महत्व और जानें 5 पारंपरिक अष्टमी भोग व्यंजन
Green tea side effects Green Tea Pine ke Nuksaan
Next Article
जरूरत से ज्यादा ग्रीन टी दे सकती है भयंकर नतीजा, यहां जाने Green Tea के Side Effects
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;