विज्ञापन
Story ProgressBack

केरल में भीषण बाढ़ और बारिश से 324 की मौत, लाखों लोग हुए विस्थापित, 10 बातें...

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से जीवन अस्त-व्यस्त है. भारी बारिश और बाढ़ से बीते 9 दिनों में 324 लोगों की मौत हो चुकी है.

Read Time:4 mins
???? ??? ???? ???? ?? ????? ?? 324 ?? ???, ????? ??? ??? ?????????, 10 ?????...
केरल में भारी बारिश और बाढ़ से आम जनजीवन अस्त व्यस्त है.
तिरुवनंतपुरम:

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से जीवन अस्त-व्यस्त है. भारी बारिश और बाढ़ से बीते 9 दिनों में 324 लोगों की मौत हो चुकी है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि अब तक दो लाख से अधिक लोग विस्थापित हो चुके हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी केरल रवाना हो चुके हैं. वहीं राज्य में अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी और पेट्रोल पंप में ईंधन की कमी से संकट गहराता दिखा. करीब एक सदी में आई इस प्रलयंकारी बाढ़ में 8 अगस्त के बाद से अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. आपदा ने इस प्राकृतिक छटा वाले राज्य को झकझोर कर रख दिया है. इसके चलते इसका पर्यटन उद्योग बर्बाद हो गया है, हजारों हेक्टेयर भूभाग में उपजी फसलें तबाह हो गई हैं और बुनियादी ढांचे को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है.

2 लाख से अधिक लोग विस्थापित
  1. NDRF कर्मियों के अलावा सेना, नौसेना, वायुसेना के कर्मियों ने बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित इलाकों में अपने-अपने घरों की छतों, ऊंचे स्थानों पर फंसे लोगों को निकालने का कार्य शुरू किया. 
  2. ऊंचाई वाले इलाकों में पहाड़ों के दरकने के कारण चट्टानों के टूटकर नीचे सड़क पर गिरने से सड़कें अवरुद्ध हो गईं जिससे वहां रहने वालों और गांवों में बचे लोगों का संपर्क बाकी की दुनिया से कट गया. ये गांव आज किसी द्वीप में तब्दील हो गए हैं.
  3. महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों समेत सैकड़ों लोग ऐसी जगहों पर फंसे हैं जहां नौका से पहुंच पाना मुश्किल है. उन लोगों को रक्षा मंत्रालय के हेलीकॉप्टर की मदद से निकाला गया और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.
  4. टीवी चैनलों पर प्रसारित एक वीडियो फुटेज में प्रसव पीड़ा से जूझ रही एक महिला को नौसेना के हेलीकॉप्टर में एक रस्सी के सहारे ऊपर पहुंचाया गया. अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान महिला की एमनियोटिक थैली फट गई थी और ऑपरेशन के लिए उसे नौसेना अस्पताल भेजा गया, जहां उसने बेटे को जन्म दिया. जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं.
  5. ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और ब्रिटेन में रह रहे प्रवासी केरलवासी अपने-अपने प्रियजन की मदद की खातिर टीवी चैनलों के माध्यम से अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया से सौम्या ने कहा कि उसके माता-पिता और रिश्तेदार पिछले दो दिन से अलुवा में फंसे हैं. एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि उसकी एक बजुर्ग रिश्तेदार मैरी वर्गीज को ऑक्सीजन सिलेंडर की बहुत सख्त जरूरत है और उनकी हालत बिगड़ती जा रही है.
  6. एक व्हाट्सऐप वीडियो में बाढ़ में फंसी एक महिला अपने छह साल के बच्चे के साथ मदद की अपील करती दिख रही है. वीडियो में महिला कहती है, 'हमारे पास न खाना है न पानी. कृपया हमारी मदद करें.'
  7. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देर रात तक केरल पहुंच जाएंगे. कल वह बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने वाले हैं. पिछले दो दिनों से पीएम मोदी से पिनरई लगातार संपर्क में हैं.
  8. विजयन ने रक्षा मंत्री निर्माला सीतारमण से भी बात की और बताया कि हालात लगातार 'गंभीर' होते जा रहे हैं. 50,000 से अधिक परिवारों से 2.23 लाख लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं. कुछ जगहों पर बारिश थोड़ी थमी है, लेकिन पथनमथिट्टा, अलपुझा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिले अब भी मानसूनी संकट से जूझ रहे हैं.
  9. एर्नाकुलम जिले में कई निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गई है, जिसके चलते अधिकारियों ने मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भर्ती कराया. अस्पतालों में पानी घुस जाने के कारण कई मरीजों को वहां से निकाला गया. राहत शिविरों में रह रहे लोगों ने भी बाढ़ के खतरे और पेयजल की कमी की शिकायत की.
  10. तिरुवनंतपुरम जैसे स्थानों में कुछ पेट्रोल पंपों में ईंधन की कमी दिखी. तिरुवनंतपुरम जिले में कई पेट्रोल पंपों में मोटरचालकों की लंबी-लंबी कतारें दिखीं. अधिकारियों ने पेट्रोल पंपों को निर्देश दिया है कि वे राहत अभियानों के लिए अपने पास हर वक्त 3000 लीटर डीजल और 1000 लीटर पेट्रोल अपने पास बचाकर रखें.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Chandu Champion Box Office Collection Day 1: बॉक्स ऑफिस पर चैंपियन नहीं बन पाया चंदू, मोटा बजट, कमजोर कलेक्शन
केरल में भीषण बाढ़ और बारिश से 324 की मौत, लाखों लोग हुए विस्थापित, 10 बातें...
दिल्ली-NCR में सर्दी का सितम, शीत लहर की वजह से घर से निकलना दुश्वार; कोहरा-धुंध से भी बुरा हाल
Next Article
दिल्ली-NCR में सर्दी का सितम, शीत लहर की वजह से घर से निकलना दुश्वार; कोहरा-धुंध से भी बुरा हाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;