विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 20, 2023

Shardiya Navratri 2023: नवरात्रि में माता को भूलकर भी न चढ़ाएं ये 5 चीजें, माना जाता है बेहद अशुभ

What not offer Goddess Durga during Navratri: नवरात्रि में नौ दिन माता दुर्गा की अराधना की जाती है. माता को प्रसन्न करने के लिए भक्त उनकी प्रिय चीजें उन्हें चढ़ाते हैं, लेकिन कुछ चीजें देवी की अराधना में वर्जित मानी जाती हैं.

Shardiya Navratri 2023: नवरात्रि में माता को भूलकर भी न चढ़ाएं ये 5 चीजें, माना जाता है बेहद अशुभ
Things not to offer to Maa Durga: देवी की अराधना में इन चीजों को चढ़ाना वर्जित माना जाता है.

Shardiya Navratri 2023: नवरात्रि (Navratri) के समय खास योग के कारण मां दुर्गा (Goddess Durga) की अराधना बेहद फलदाई होती है. शारदीय नवरात्रि 15 अक्टूबर से शुरू हो चुकी है और 24 अक्टूबर को दशमी के दिन समाप्त होगी. मान्यता है कि नवरात्रि (Navratri) के समय माता धरती पर अवतरित होती हैं और उनके नौ रूपों की पूजा पूरे विधि विधान से की जाती है. इस समय माता को प्रिय चीजों अर्पित करने से माता अत्यंत प्रसन्न होती हैं लेकिन लेकिन कुछ चीजें देवी की अराधना में वर्जित मानी जाती हैं और उन्हें भूलकर भी देवी को अर्पित नहीं करना चाहिए(Things not to offer Goddess Durga).

नवरात्रि में माता रानी को क्या नहीं चढ़ाना चाहिए? What should not be offered to Mata Rani during Navratri?

तुलसी और दूब है वर्जित

नवरात्रि के दौरान माता की पूजा में भूलकर दूब और तुलसी के पत्ते नहीं चढ़ाना चाहिए. ये दोनों चीजें माता की पूजा में वर्जित मानी जाती है. इसके साथ ही बेल चढ़ाने की भी मनाही होती है. इन चीजों से मां के नाराज होने का भय होता है.

Latest and Breaking News on NDTV
खिले हुए पुष्प करें अर्पित

माता की पूजा में हमेशा पूरी तरह खिले हुए फूलों का ही उपयोग करना चाहिए. शास्त्रों के अनुसार देवी को कमल और चंपा के अलावे किसी भी फूल की कली चढ़ाना वर्जित हैं. नागचंपा, हरसिंगार और मदार के फूल नहीं चढ़ाने चाहिए. लाल रंग के फूलों से माता सबसे ज्यादा प्रसन्न होती हैं.

Latest and Breaking News on NDTV
बीच में न छोड़े पूजा

नवरात्रि की पूजा में दुर्गा सप्तशती, दुर्गा चालीसा और मंत्रों का जाप करना चाहिए. पूजा के दौरान कभी भी बीच में उठना नहीं चाहिए. ऐसा करने से पूजा निष्फल साबित हो सकती है.

अपवित्र स्थान के फूल

माता की पूजा के लिए कभी भी अपवित्र स्थान से लाए फूलों का उपयोग नहीं करना चाहिए. देवी को नीचे गिरे फूलों को चढ़ाना भी वर्जित माना गया है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सावन में भक्त धारण करते हैं त्रिपुंड तिलक, जानिए इस तिलक का महत्व और लगाने का सही तरीका
Shardiya Navratri 2023: नवरात्रि में माता को भूलकर भी न चढ़ाएं ये 5 चीजें, माना जाता है बेहद अशुभ
घर में पहली बार ला रहे हैं लड्‌डू गोपाल, जरूर जान लें श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप की सेवा के ये नियम
Next Article
घर में पहली बार ला रहे हैं लड्‌डू गोपाल, जरूर जान लें श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप की सेवा के ये नियम
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;