Kartik Purnima 2020: कोविड-19 के चलते इस बार नहीं लगेगा बहराइच में कार्तिक पूर्णिमा का मेला

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते बहराइच में सरयू नदी के तट पर 100 वर्षों से लगने वाला कार्तिक पूर्णिमा का मेला इस साल नहीं लगेगा.

Kartik Purnima 2020: कोविड-19 के चलते इस बार नहीं लगेगा बहराइच में कार्तिक पूर्णिमा का मेला

Kartik Purnima 2020: कोविड-19 के चलते इस बार नहीं लगेगा बहराइच में कार्तिक पूर्णिमा का मेला

बहराइच:

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते बहराइच में सरयू नदी के तट पर 100 वर्षों से लगने वाला कार्तिक पूर्णिमा का मेला इस साल नहीं लगेगा. शहर स्थित त्रिमुहानी घाट पर दशकों से कार्तिक पूर्णिमा मेले का आयोजन स्वर्ग धाम सेवा समिति करती आई है. कार्तिक पूर्णिमा के इस मेले में बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु आते हैं और सरयू नदी में डुबकी लगाकर पूजा अर्चना करते हैं. मेले में सैकड़ों ठेले, पटरी दुकानें व झूले आदि लगते हैं. स्वर्ग धाम सेवा समिति के अध्यक्ष अशोक मातनहेलिया, सचिव कुलभूषण अरोरा व प्रबंधक शीतल अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि शासन की ओर से सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए संख्या का प्रतिबंध है तथा कोविड-19 प्रोटोकाल के पालन की शर्तों के साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रम कराये जा सकते हैं.

Kartik Purnima 2020: 30 नवंबर को है कार्तिक पूर्णिमा, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और व्रत कथा


उन्‍होंने कहा, कि मेले में संभावित भीड़ को निर्धारित संख्या में रोक पाना व कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन संभव नहीं है और खाने पीने की दुकानों व भीड़ से संक्रमण फैलने का भी खतरा है, इसलिए समिति ने मेला नहीं कराने का फैसला लिया है. हालांकि, स्नान व पूजा अर्चना पर रोक नहीं है. नगर मजिस्ट्रेट जय प्रकाश ने बताया कि समिति ने इस वर्ष कोविड-19 संक्रमण के चलते मेला नहीं कराने की जानकारी पत्र द्वारा दी है. उन्‍होंने कहा कि सरयू नदी में स्नान के लिए सामाजिक दूरी व कोविड-19 नियमों के पालन के साथ व्यवस्था की गयी है और यदि कोई श्रद्धालु कोविड-19 दिशानिर्देश व नियमों का पालन करते हुए पूजा करना चाहेंगे तो उन्हें रोका नहीं जाएगा, लेकिन मेले का आयोजन संभव नहीं होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हरिद्वार में कार्तिक पूर्णिमा का स्नान पर्व स्थगित



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)