Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल को पालने में झुलाने का है खास महत्व, संतान के लिए भी माना जाता है शुभ

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप लड्डू गोपाल की पूजा होती है. इसके साथ ही इस दिन लड्डू गोपाल को पालने में झुलाया जाता है. लड्डू गोपाल को पालने में झुलाने से इन इच्छाओं की पूर्ति होती है.

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल को पालने में झुलाने का है खास महत्व, संतान के लिए भी माना जाता है शुभ

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल को पालने में झुलाने का खास महत्व है.

Janmashtami 2022: हर साल भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जन्माष्टमी (Janmashtami) का पर्व हर्षोल्लास से मनाया जाता है. पंचांग के मुताबिक इस साल जन्माष्टमी (Janmashtami Panchang) का उत्सव 19 अगस्त को मनाया जाएगा. भगवान श्रीकृष्ण (Lord Krishna) का जान्म भाद्रपद मास की अष्टमी तिथि को हुआ था, इसलिए अष्टमी तिथि को ही जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है. जन्माष्टमी (Janmashtami 2022) के अगले दिन दही हांडी (Dahi Handi 2022) का आयोजन होता है. जन्माष्टमी के पर्व (Janmashtami) पर मंदिरों से लेकर घरों में भगवान श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप को सजाया जाता है. साथ ही उनकी पूजा-अर्चना की जाती है. इसके साथ ही इस दौरान लड्डू गोपाल (Laddu Gopal) को पालने में झुलाने की परंपरा भी है. धार्मिक मान्यता है कि इस दिन बाल गोपाल को पालने में झुलाने से भक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है. साथ ही संतान के लिए भी शुभ माना जाता है. 

जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल को झुलाया जाता है पालने में

जन्माष्टमी (Janmashtami 2022) के दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना के साथ ही भगवान को पालने में झुलाया जाता है. मान्यता है कि इस दिन लड्डू गोपाल को पालने में झुलाने से मनोकामना पूरी होती है. साथ ही ऐसे करने संतान प्राप्ति की कामना भी पूरी होती है. इसके साथ ही संतान को लंबी उम्र और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है.

Janmashtami 2022: जन्माष्टमी पर भगवान कृष्ण की पूजा में ना करें ये गलतियां, जानें किस तरह मिलता है पूजा का संपूर्ण फल

संतान के लिए होता है खास

जन्माष्टमी का पर्व श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव से रूप में मनाया जाता है. मान्यता है कि इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप करने से संतान प्राप्ति का आशीर्वाद मिलता है. साथी ही संतान को उत्तम स्वास्थ्य और लंबी आयु का वरदान मिलता है. मान्यता है कि जो दंपत्ति शीघ्र संतान की कामना करती हों उन्हें जन्माष्टमी के दिन घर में बाल-गोपाल की प्रतिमा स्थापित करनी चाहिए. साथ ही कान्हा जैसी सुंदर संतान की कामना करते हुए नीचे दिए गए मंत्रों का जाप करना चाहिए.

मंत्र | Mantra 

सर्वधर्मान् परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज
अहं त्वा सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुच

देवकीसुतं गोविन्दम् वासुदेव जगत्पते
देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:

Janmashtami 2022 Date: 19 अगस्त को मनाई जाएगी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, यहां जानें सभी पंचांगों का मत

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

मॉनसून स्किन केयर टिप्स बता रही हैं ब्यूटी एक्सपर्ट भारती तनेजा​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com