"220 रन का बचाव करने के लिए गेंदबाजों को.." ऑस्ट्रेलिया से मिली हार के बाद सूर्यकुमार यादव ने बताया कहां हुई गलती

Suryakumar Yadav After Australia beat India in 3rd T20I: ऑस्ट्रेलिया को 134 के स्कोर पर पांचवां झटका लगा था. ऐसा लग रहा था कि भारत मैच को जीत लेगा, लेकिन टीम मैक्सवेल का विकेट लेने में नाकाम रही और आखिरकर ग्लेन मैक्सवेल ही ऑस्ट्रेलिया की जीत के नायक बनकर उभरे.

Suryakumar Yadav: कप्तान ने बताया आखिर कहां हुई चूक

Suryakumar Yadav After Australia beat India in 3rd T20I: ग्लेन मैक्सवेल की शतकीय पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज के तीसरे मुकाबले में भारत को पांच विकेट से हरा दिया. गुवाहाटी के बारसापारा क्रिकेट स्टेडियम में हुए इस मुकाबले में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 223 रनों का लक्ष्य दिया था. भारत से मिले लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया को ट्रेविस हेड और आरोन हार्डी को जोड़ी ने अच्छी शुरुआत दिलाई. ऑस्ट्रेलिया के लिए इस सलामी जोड़ी ने पहले तीन ओवरों में ही 40 रन जोड़ लिए थे. लेकिन इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने वापसी की. ऑस्ट्रेलिया को 134 के स्कोर पर पांचवां झटका लगा था. ऐसा लग रहा था कि भारत मैच को जीत लेगा, लेकिन टीम मैक्सवेल का विकेट लेने में नाकाम रही और आखिरकर ग्लेन मैक्सवेल ही ऑस्ट्रेलिया की जीत के नायक बनकर उभरे.

वहीं भारत को मिली हार के बाद पोस्ट मैच प्रजेंटेशन के दौरान कप्तान सूर्यकुमार यादव ने गेंदबाजों द्वारा लक्ष्य का सफलतापूर्वक बचाव नहीं करने पर गेंदबाजों का बचाव किया. कप्तान ने इसके साथ ही बताया कि आखिर टीम से कहां गलती हुई. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार के बाद ग्लेन मैक्सवेल ने कहा,"हमारा प्लान था कि ग्लेन मैक्सवेल को जल्द से जल्द पवेलियन वापस भेजें. इतनी अधिक ओस के साथ 220 रन का बचाव करने के लिए गेंदबाजों को कुछ देना होगा. ऑस्ट्रेलिया हमेशा खेल में था. लड़कों से कहा कि हम कोशिश करेंगे और उसे (मैक्सवेल को) जल्दी आउट करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ, यह पागलपन था. अक्षर एक अनुभवी गेंदबाज है, उसने सोचा कि ओस होने पर एक अनुभवी गेंदबाज के लिए हमेशा मौका रहता है, भले ही वह स्पिनर ही क्यों न हो. मुझे अपने लड़कों पर बहुत गर्व है."


बात अगर मैच की करें तो आक्रामक बल्लेबाजी के पर्याय ग्लेन मैक्सवेल के 48 गेंद में नाबाद 104 रन की मदद से आस्ट्रेलिया ने बेहद रोमांचक तीसरे टी20 मैच में मंगलवार को भारत को आखिरी गेंद पर पांच विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में वापसी की. गेंदबाजी के दौरान आखिरी ओवर में 30 रन लुटाने वाले मैक्सवेल ने बल्लेबाजी में इसकी पूरी भरपाई करते हुए एक समय असंभव दिख रहे 223 रन के लक्ष्य तक आस्ट्रेलिया को पहुंचाया.

पहले दोनों मैच हार चुकी आस्ट्रेलिया को आखिरी दो ओवर में 43 रन चाहिये थे. कप्तान मैथ्यू वेड ने 19वें ओवर में अक्षर पटेल को एक छक्का और एक चौका लगाया जबकि विकेटकीपर ईशान किशन की चूक से चार रन बाय के रूप में मिले. अब आखिरी ओवर में 22 रन की जरूरत थी और हाल ही में वनडे विश्व कप में दोहरा शतक जड़कर आस्ट्रेलिया को अफगानिस्तान पर ऐसी ही चमत्कारिक जीत दिलाने वाले मैक्सवेल ने प्रसिद्ध कृष्णा को तीसरी गेंद पर छक्का और आखिरी तीन गेंदों पर चौके जड़ते हुए टीम को पांच विकेट पर 225 रन तक पहुंचा दिया.

मैक्सवेल ने 48 गेंद में आठ चौकों और आठ छक्कों की मदद से 104 रन बनाये. उन्होंने अपना शतक 47 गेंद में पूरा करके आस्ट्रेलिया के लिये सबसे तेज टी20 शतक के जोश इंगलिस और आरोन फिंच के रिकॉर्ड की बराबरी की. वेड ने 28 और विश्व कप फाइनल के नायक ट्रेविस हेड ने 35 रन की पारी खेली. इससे पहले रूतुराज गायकवाड़ के 57 गेंद में नाबाद 123 रन की मदद से भारत ने तीन विकेट पर 222 रन बनाये थे.  गायकवाड़ ने अपनी पारी में 13 चौके और सात छक्के लगाये और आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 क्रिकेट में किसी भारतीय बल्लेबाज का यह पहला शतक था.

यह भी पढ़ें: India vs Australia 3rd T20I: ग्लेन मैक्सवेल ने आखिरी गेंद पर चौका जड़कर ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से दिलाई जीत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें: IND vs AUS T20I Series: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे मैच से पहले मुकेश कुमार टीम से हटे, जानिए क्या है कारण