क्या गेंदबाजी के लिए फिट हो गए हैं हार्दिक पांड्या, जानिए कप्तान बनने के बाद इस बारे में क्या कहा

पांड्या (Hardik pandya) की गेंदबाजी पर सवाल उठना लाजमी है क्योंकि उन्होंने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं से कहा है कि वे उन्हें भारत के लिए न चुनें क्योंकि वह अपना गेंदबाजी पर काम कर रहे हैं.

क्या गेंदबाजी के लिए फिट हो गए हैं हार्दिक पांड्या, जानिए कप्तान बनने के बाद इस बारे में क्या कहा

टीम का नेतृत्व करने के लिए अब उनके कंधे पर अधिक जिम्मेदारी आ गई है

खास बातें

  • IPL 2022 मेगा ऑक्शन में शामिल सबसे कम उम्र के खिलाड़ी
  • भारत के 3 खिलाड़ी लिस्ट में शामिल
  • बेबी एबी भी आईपीएल ऑक्शन में हुए शामिल
नई दिल्ली:

हार्दिक पांड्या (Hardik pandya) का अब गेंदबाजी करने के लिए फिट हो गए हैं इस बात से अभी भी पूरी तरह से पर्दा नहीं उठ पाया है. हार्दिक पांड्या ने भारतीय सेलेक्टरों को यह कहा है कि वे अभी गेंदबाजी करने के लिए फिट नहीं हैं. हार्दिक पांड्या (Hardik pandya) ने एक नामी क्रिकेट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कहा कि उनकी टीम जानती है कि वे कहां खड़े हैं. हार्दिका पांड्या को अहमदाबाद की टीम का कप्तान बनाया गया है जबकि उनके अलावा ओपनर बल्लेबाज शुबमन गिल (Subhman Gill) और दिग्गज स्पिनर राशिद खान (Rashid Khan) को शामिल किया गया है. 

यह पढ़ें- Commonwealth Games 2022 खेलों के पहले ही मैच में भिड़ेंगी भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें, महिला क्रिकेट को किया गया शामिल

हार्दिक पांड्या (Hardik pandya) काफी दिनों ने अपनी फिटनेस को लेकर परेशान हैं. टी20 वर्ल्डकप में भी उन्होंने भारत के लिए गेंदबाजी नहीं की थी जिसका खामियाजा भारतीय टीम को भुगतना पड़ा था. भारतीय टीम में हार्दिक पांड्या के चले जाने से टीम का बैलेंस खराब हो चुका है. अब फैंस के भी दिलों में बड़ा सवाल यह है कि क्या हार्दिक पांड्या आईपीएल में अहमदाबाद के लिए गेंदबाजी करेंगे या नहीं. 


यह भी पढ़ें- IPL 2022: ये खिलाड़ी होंगे सभी टीमों के रेडार पर, जानें Mega Auction में शामिल टॉप 10 मार्की खिलाड़ियों की पूरी लिस्ट

पांड्या (Hardik pandya) की गेंदबाजी पर सवाल उठना लाजमी है क्योंकि उन्होंने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं से कहा है कि वे उन्हें भारत के लिए न चुनें क्योंकि वह अपना गेंदबाजी पर काम कर रहे हैं. टीम का नेतृत्व करने के लिए अब उनके कंधे पर अधिक जिम्मेदारी के साथ, इस साल के अंत में होने वाले एक और ICC T20 विश्व कप के साथ पंड्या की बल्लेबाजी पर भी बारीक नजर रहने वाली है. अपनी गेंदबाजी के बारे में उन्होंने कहा कि  वह सिर्फ एक बल्लेबाज नहीं बनना चाहते हैं और अभी भी गेंद से योगदान देना चाहते हैं. "यह चुनौतीपूर्ण रहा है. मैं हमेशा ऐसा व्यक्ति रहा हूं जो बल्ले, गेंद और मैदान पर योगदान देता है.  जब मैंने फैसला किया कि मैं बस बल्लेबाजी करूंगा, तो मैं मैदान पर कुछ समय बिताना चाहता था. मुझे आलोचकों से बहुत ज्यादा फर्क नहीं पड़ता. 

हालांकि अपनी कप्तानी के बारे में उन्होंने काफी आत्मविश्वास के साथ बात की है और उन्होंने अपने सभी कप्तानों का नाम लेते हुए बताया कि विराट कोहली से वे मैदान पर जोश लेकर आएंगे तो वहीं धोनी से संयम उन्होंने हासिल किया है. जबकि आईपीएल में रोहित शर्मा के अंडर मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए मैंने ये सीखा है कि खिलाड़ियों को जो करना है उन्हें करने दें. 

क्या क्रिकेट में कोच का काम नहीं? क्या सचमुच काम बिगाड़ रहे हैं कोच?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com