क्रिसमस की छुट्टियों के लिए हिमाचल प्रदेश में हजारों की भीड़ उमड़ी, अटल सुरंग पसंदीदा बनी

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा, ‘‘लाखों की तादाद में इतनी बड़ी संख्या में आए पर्यटकों का हम स्वागत करते हैं.’’मॉनसून के मौसम में प्राकृतिक आपदा के बाद हिमाचल प्रदेश एक बार फिर पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार है. इस मॉनसून के मौसम में बारिश के दौरान दो बार हिमाचल प्रदेश के बड़े हिस्से में भारी नुकसान हुआ.

क्रिसमस की छुट्टियों के लिए हिमाचल प्रदेश में हजारों की भीड़ उमड़ी, अटल सुरंग पसंदीदा बनी

क्रिसमस और नववर्ष के अवसर पर लंबे सप्ताहांत के दौरान हिमाचल प्रदेश में हजारों पर्यटक उमड़े और कुल्लू तथा लाहौल एवं स्पीति के साथ रोहतांग में अटल सुरंग सबसे अधिक पसंदीदा पर्यटन गंतव्य के रूप में शामिल हो गई. पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, रविवार को 12,000 से अधिक वाहनों में अनुमानित 65,000 लोगों ने सुरंग को पार किया. 9.2 किलोमीटर लंबी अटल सुरंग 10,000 फुट से ऊंची, दुनिया की सबसे ऊंची ‘सिंगल-ट्यूब' सुरंग है. शनिवार को रोहतांग में भारी बर्फबारी हुई जिससे पर्यटकों ने यहां का रुख किया.

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा, ‘‘लाखों की तादाद में इतनी बड़ी संख्या में आए पर्यटकों का हम स्वागत करते हैं.''मॉनसून के मौसम में प्राकृतिक आपदा के बाद हिमाचल प्रदेश एक बार फिर पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार है. इस मॉनसून के मौसम में बारिश के दौरान दो बार हिमाचल प्रदेश के बड़े हिस्से में भारी नुकसान हुआ. भारी बारिश ने मंडी और कुल्लू जिलों में कहर बरपाया जिससे बड़े पैमाने पर तबाही हुई. अगस्त में दूसरे दौर की बारिश में शिमला और सोलन जिले प्रभावित हुए तथा राजधानी शिमला को भी भारी क्षति हुई.

सुक्खू ने बड़ी संख्या में पर्यटकों की आमद को कुशलतापूर्वक प्रबंधित करने और बर्फ में फंसे, खासकर सुरंग के उत्तर और दक्षिण पोर्टल में लोगों की मदद करने के लिए जिला प्रशासन और पुलिस के प्रयासों की भी सराहना की. सुरंग के उत्तर और दक्षिण पोर्टल पर तापमान शून्य से 12 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने कहा कि राज्य में ‘‘लाखों पर्यटक'' आए हैं और उनसे सुरक्षित यात्रा नियमों को प्राथमिकता देने और यातायात नियमों का पालन करने की अपील की गई है.