खराब मौसम ने ली 21 चीनी धावकों की जान, 100KM की मैराथन दौड़ में अचानक होने लगी बर्फबारी

बैयिन शहर के मेयर झांग ज़ुचेन ने कहा, "दोपहर के करीब 20 से 31 किलोमीटर के बीच दौड़ का ऊंचाई वाला हिस्सा अचानक विनाशकारी मौसम से प्रभावित हो गया. कुछ ही समय में स्थानीय क्षेत्र में ओलावृष्टि और बर्फ की बारिश होने लगी और तेज हवाएं चलने लगी. इससे तापमान में तेजी से गिरावट आ गई." 

खराब मौसम ने ली 21 चीनी धावकों की जान, 100KM की मैराथन दौड़ में अचानक होने लगी बर्फबारी

बीजिंग, चीन:

खराब मौसम की वजह से चीन (China) में 21 धावकों (Runners) की जान चली गई, जबकि एक अभी भी लापता है. स्थानीय अधिकारियों ने रविवार को कहा कि ओलावृष्टि, बर्फबारी और उसके जमने और तेज हवाओं के कारण चीन में 100 किलोमीटर की क्रॉस-कंट्री माउंटेन रेस में भाग ले रहे  21 लोगों की मौत हो गई. राज्य प्रसारक सीसीटीवी ने स्थानीय बचाव कमान मुख्यालय का हवाला देते हुए बताया कि एक धावक जो लापता था, वह सुबह 9:30 बजे पाया गया, लेकिन उसके सभी अंगों ने काम करना बंद कर दिया है.

बैयिन शहर के अधिकारियों ने एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा, "उत्तर-पश्चिमी गांसु प्रांत में बैयिन शहर के पास येलो नदी (Yellow River) के अत्यधिक ऊंचाई वाले जंगल में आयोजित दौड़ पर अचानक, खराब मौसम" का साया पड़ गया."

बैयिन शहर के मेयर झांग ज़ुचेन ने कहा, "दोपहर के करीब 20 से 31 किलोमीटर के बीच दौड़ का ऊंचाई वाला हिस्सा अचानक विनाशकारी मौसम से प्रभावित हो गया. कुछ ही समय में स्थानीय क्षेत्र में ओलावृष्टि और बर्फ की बारिश होने लगी और तेज हवाएं चलने लगी. इससे तापमान में तेजी से गिरावट आ गई." 

तिब्बत पर चीन का श्वेत पत्र, 'दलाई लामा के उत्तराधिकारी को चीनी सरकार की मान्यता जरूरी'


उन्होंने कहा कि कुछ प्रतिभागियों की मदद के संदेश मिलने के तुरंत बाद, मैराथन आयोजकों ने एक बचाव दल भेजा जो 18 प्रतिभागियों को बचाने में कामयाब रहा. झांग ने कहा कि दोपहर करीब 2 बजे मौसम की स्थिति अचानक खराब हो गई. इस कारण दौड़ को तुरंत रद्द कर दिया गया. स्थिति को देखते हुए स्थानीय अधिकारियों ने तुरंत मदद के लिए बचाव दल भेजे.
 
झांग ने कहा कि आठ अन्य धावकों का मामूली चोटों के लिए अस्पताल में इलाज चल रहा है. सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने पहले बताया था कि कुछ धावक मौसम के कारण हाइपोथर्मिया से पीड़ित थे. समाचार एजेंसी ने कहा कि पहाड़ी इलाकों में रात भर तापमान में और गिरावट आई, जिसने खोज और बचाव कार्य को "अधिक कठिन" बना दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एजेंसी ने बयान में कहा, "रविवार तड़के तीन बजे तक 151 लोगों के सुरक्षित होने की पुष्टि हुई है, जिनमें से पांच को मामूली चोटें आई हैं और उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है और उनकी हालत स्थिर है." समाचार एजेंसी ने कहा कि कुल 172 लोग दौड़ में हिस्सा ले रहे थे.