प्रयागराज: अस्पताल से 'गायब' हो गया था कोरोना मरीज, अगले दिन झाड़ियों में मिला शव

प्रयागराज (Prayagraj) में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां के एक नामचीन अस्पताल के कोरोना वार्ड (Coronaward) से गायब मरीज का शव अस्पताल से करीब 500 मीटर की दूरी पर पाया गया है.

प्रयागराज: अस्पताल से 'गायब' हो गया था कोरोना मरीज, अगले दिन झाड़ियों में मिला शव

CCTV फुटेज में अस्पताल से बाहर जाते नजर आया था कोविड-19 मरीज

प्रयागराज:

प्रयागराज (Prayagraj) में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां के एक नामचीन अस्पताल के कोरोना वार्ड (Coronaward) से गायब मरीज का शव रविवार को अस्पताल से करीब 500 मीटर की दूरी पर झाड़ियों में मिला. मृतक के परिवार ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है वहीं अस्पताल ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है. प्राप्त जानाकारी के अनुसार 57 वर्षीय शख्स को सांस में तकलीफ के बाद प्रयागराज (Prayagraj) के स्वरुप रानी नेहरु अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यह प्रयागराज का लेवल 3 फैसिलिटी वाला कोविड अस्पताल (Covid Hospital in Prayagraj) है. 

Read Also: एक समय पर कोरोना हॉटस्पॉट था मुंबई का धारावी, इस तरह पाया वायरस पर काबू

शख्स के अस्पताल से भागने के बाद परिवार द्वारा जारी एक चैट भी शेयर किया गया था जिसमें मरीज दावा कर रहे हैं कि कोरोना मरीजों की मदद के लिए अस्पताल प्रशासन का कोई शख्स मौजूद नहीं है. इस घटना का CCTV फुटेज भी सामने आया है. जिसके अनुसार शनिवार की शाम एक शख्स कोविड वार्ड से बाहर जाता हुआ दिखाई दे रहा है. उसके बाद कुछ और लोग उसी गेट से बाहर निकलते दिखाई दे रहा है. अस्पताल प्रशासन के अनुसार समूह में दिखाई दे रहे लोग अस्पताल के स्टाफ हैं जो मरीज को ढूंढ रहे थे.   

फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. मृतक की बेटी ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाया हुए कहा कि अस्पताल की अनदेखी की वजह से पिता की मौत हुई. यहां कोविड मरीजों को परेशान किया जाता है उनके साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि चूंकि अस्पताल ध्यान नहीं दे रहा था इसलिए मेरे पिता बाहर जा पाए. उन्होंने आरोप लगाया कि पैसे देने के बावजूद कोविज मरीजों को खाना नहीं दिय़ा जा रहा था.

Read Also: कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत का साथ देने के लिए आगे आया इजराइल, 30 सेकेंड में होगी कोविड जांच


अस्पताल प्रशासन का कहना है कि हम मृतक के परिवारजनों की पीड़ा को समझ सकते हैं. मरीज को सांस लेने में दिक्कत और बुखार था और इलाज के दौरान वह ठीक हो रहे थे. अस्पताल के मुताबिक वह जब वार्ड से बाहर जा रहे थे जो उन्हें रोकने की कोशिश की गई थी लेकिन कुछ ही देर में वह वहां से गायब हो गए. उन्होंने बताया कि हमने इस बारे में पुलिस को सूचना दे दी थी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: कोरोना को लेकर कामयाबी की ओर दिल्ली