इस छलांग के साथ रियो ओलिंपिक्स में चौथे नंबर पर होते श्रीशंकर

पटियाला में चल रहे फ़ेडरेशन कप एथलेटिक्स टूर्नामेंट (Federation Cup  Athletics) में केरल के एम श्रीशंकर (M. Sreeshankar) ने 8.26 मीटर की छलांग लगाकर एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया और टोक्यो ओलिंपिक्स (Olympic qualification)  का टिकट भी हासिल कर लिया.

इस छलांग के साथ रियो ओलिंपिक्स में चौथे नंबर पर होते श्रीशंकर

इस छलांग के साथ रियो ओलिंपिक्स में चौथे नंबर पर होते श्रीशंकर

पटियाला में चल रहे फ़ेडरेशन कप एथलेटिक्स टूर्नामेंट (Federation Cup  Athletics) में केरल के एम श्रीशंकर (M. Sreeshankar) ने 8.26 मीटर की छलांग लगाकर एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया और टोक्यो ओलिंपिक्स (Olympic qualification)  का टिकट भी हासिल कर लिया. टोक्यो ओलिंपिक्स का क्वालिफ़ाइंग मार्क 8.22 मीटर है. श्रीशंकर ने 8.26 मीटर की  छलांग लगाकर 2018 में भुवनेश्वर में बनाए गए अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ दिया. श्रीशंकर ने अपने इस प्रदर्शन के बाद कहा, "मैं उन सबको साबित करना चाहता था जो समझते थे कि 8.20 ही मेरा बेस्ट प्रदर्शन है क्योंकि उसके बाद मेरा  प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. मैं बेहद खुश हूं. लेकिन केरल के पालक्काड़ ज़िले के याकड़ा से श्रीशंकर की बहन श्रीपार्वति ने NDTV से ख़ास बातचीत में  बताया, "भाई सोमवार से ही बेहद कॉन्फ़िडेंट था. वो कह रहा था कि कल उसका दिन होगा. उसने साबित कर दिया." वो ये भी बताती हैं कि कैसे उनके  पिता श्रीमुरली जो कि एक ट्रिपल जंपर हैं ने उन्हें यहां तक पहुंचाने में कड़ी मेहनत की है. 

श्रीशंकर की ख़बर के बाद उनके ट्रेनिंग ग्राउंड में बाक़ी के खिलाड़ी और बच्चे बेहद खुश हुए और मैदान में ही लड्डू बांटकर जश्न मनाया गया.  उनकी बहन  बताती हैं कि श्रीशंकर की वापसी पर वहां बड़े जश्न की तैयारी शुरू हो गई है. वो बताती हैं कि श्रीशंकर का सपना ओलिंपिक्स का मेडल जीतना  आज से नहीं बल्कि तब से है जब वो दूसरी क्लास में थे. इसलिए उन्होंने अपनी ईमेल आईडी भी ओलिंपियन श्रीशंकर के नाम से दूसरी या तीसरी कक्षा में  ही बना ली थी. 27 मार्च को अपनी 22वीं सालगिरह के लिए श्रीशंकर ने खुद को और भारत में एथलेटिक्स के फ़ैन्स को पहले ही एक शानदार 
तोहफ़ा दे दिया है.

श्रीशंकर की कामयाबी को इस लिहाज़ से समझा जा सकता है कि रियो ओलिंपिक्स में इस दूरी के साथ वो चौथे नंबर पर हो सकते थे. रियो ओलिंपिक्स  में अमेरिका के जेफ़ हेंडरसन ने 8.38 मीटर के साथ गोल्ड, दक्षिण अफ़्रीका के लुवो मैनिओंगा ने 8.37 मीटर के साथ सिल्वर और ग्रेट ब्रिटेन के  ग्रेग रदरफ़ोर्ड ने 8.29 मीटर के साथ ब्रॉन्ज़ मेडल हासिल किया था. अमेरिका के जैरिऑन लॉसन ने 8.25 मीटर की छलांग के साथ चौथा स्थान  हासिल किया था. 

भारत के श्रीशंकर ने पटियाला में लॉसन से 1 सेमी ज़्यादा छलांग लगाई है और अब दुनिया भर के एथलीटों के नज़र में आ गए हैं. श्रीशंकर ने ये दूरी अपने पांचवें प्रयास में हासिल की. लेकिन अपने पिछले चारों कोशिशों में उन्होंने 8 मीटर की सीमा रेखा ज़रूर तय की. उन्होंने  इन कोशिशों में 8.02 मीटर, 8.04 मीटर, 8.07 मीटर और 8.09 मीटर की दूरी तय की. लॉन्ग जंपर्स की वर्ल्ड रैंकिंग्स में श्रीशंकर 24वें नंबर पर  हैं. लेकिन उनकी इस छलागं का असर उनकी रैंकिंग पर भी ज़रूर दिखेगा. 


पटियाला के नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में मंगलवार को एक साथ कई धमाके हुए. महिलाओं की 100 मीटर स्प्रिंट में तमिलनाडु की 22 साल की धनलक्ष्मी ने ओडिशा की दुती चंद को पीछे छोड़ते हुए गोल्ड पर कब्ज़ा किया. दुती ने 11.58 सेकेंड का समय निकाला  और दूसरे नंबर पर रहीं, जबकि धनलक्ष्मी ने 11.38 सेकेंड का समय निकाला.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com