...जब राजनाथ सिंह के सामने ही बिहार में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की खुल गई पोल! देखें VIDEO

चुनाव के मौसम (Lok Sabha Election 2019) में नेताओं को ऐसे सच का सामना करना पड़ता है जो उनके दावों की सारी पोल खोल देता है.

...जब राजनाथ सिंह के सामने ही बिहार में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की खुल गई पोल! देखें VIDEO

गृह मंत्री राजनाथ सिंह. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • बिहार के पूर्णिया में थी राजनाथ सिंह की रैली
  • पीएम किसान सम्मान योजना का नहीं मिला कोई लाभार्थी
  • राजनाथ सिंह के कहने पर भीड़ में से किसी ने नहीं उठाए हाथ
पटना:

चुनाव के मौसम (Lok Sabha Election 2019) में नेताओं को ऐसे सच का सामना करना पड़ता है जो उनके दावों की सारी पोल खोल देता है. बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ (Rajnath Singh) सिंह के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. राजनाथ सिंह बिहार के पूर्णिया लोकसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. राजनाथ सिंह अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए पहले आयुष्मान भारत योजना का ज़िक्र किया. इसके बाद उन्होंने मुद्रा योजना का ज़िक्र किया और कहा कि अब तक 8 करोड़ लोगों को इसके अंतर्गत ऋण मिल चुका है और उन्हें किसी भी तरीक़े का कोई सिक्योरिटी नहीं देना होता.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार की 'प्रधानमंत्री किसान योजना' की राह में मुंह बाए खड़ी हैं ये चुनौतियां

लेकिन जब उन्होंने दो महीने पहले प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के बारे में बोलना शुरू किया और वहां उपस्थित लोगों से पूछने लगे कि आप लोगों में से किसको-किसको 2 हज़ार की पहली किस्त मिल गई है? जिन लोगों को मिली है वो अपना हाथ उठा दीजिए. लेकिन जब किसी ने हाथ नहीं उठाया तो फिर उन्होंने कहा हाथ उठाएं...हाथ उठाइए जिनको मिला है वह एक बार हाथ उठा दीजिए. फिर भी कोई प्रतिक्रिया न देखकर वह मंच पर उपस्थित BJP और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के नेताओं की ओर मुख़ातिब हुए.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का बड़ा ऐलान: किसानों को प्रति वर्ष दिए जाएंगे 6000 रुपये, तीन किस्तों में मिलेंगे पैसे

उस समय मंच पर नीतीश सरकार के मंत्री समेत कई अन्य विधायक भी मौजूद थे और उन्होंने उनसे पूछा यहां किसी को नहीं मिला है लगता है. यहां से लिस्ट नहीं गई है तब तक लोगों के बीच से भी आवाज़ आने लगी कि लगता है मंत्रीजी यहां फंस गए हैं. फिर राजनाथ सिंह ने कहा है कि चिंता मत कीजिए न केवल दो हेक्टेयर वाले, बल्कि उससे ऊपर और नीचे के देश के सभी किसानों को अब हर साल 6 हज़ार रुपये देने का योजना पर अमल किया जा रहा है. लेकिन निश्चित रूप से इस घटना ने 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों की याद दिला दी, जब वो लोगों से पूछते थे बिजली आई? तब बिहार के समस्तीपुर में कुछ लोगों ने भीड़ से बोल दिया था की यहां पर बिजली आई है.

यह भी पढ़ें: किसान सम्मान निधि योजना : पीएम मोदी के एक क्लिक में 1 करोड़ से ज्यादा किसानों के खाते में पहुंचे 2 हजार रुपये


बिहार में 40 सीटें, 7 चरणों मतदान
11 अप्रैल: जमुई औरंगाबाद, गया, नवादा,
18 अप्रैल: बांका, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर
23 अप्रैल: खगड़िया, झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा,
29 अप्रैल: दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर
6 मई: मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारन, हाजीपुर, सीतामढ़ी,
12 मई: पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, , शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान, महाराजगंज, वाल्मीकिनगर
19 मई: नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकट, जहानाबाद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत​