विज्ञापन
Story ProgressBack

न्यूट्रिशनिस्ट की बताई इस एक चाय से कम होने लगेगा वजन, फैट बर्न होने में दिखता है असर

वजन कम करने के लिए न्यूट्रिशनिस्ट की बताई इस चाय को पिया जा सकता है. इस चाय के गुण सेहत को एक नहीं बल्कि कई फायदे देते हैं और वजन घटाने में इसका खासा असर नजर आता है. 

Read Time: 3 mins
न्यूट्रिशनिस्ट की बताई इस एक चाय से कम होने लगेगा वजन, फैट बर्न होने में दिखता है असर
इस तरह बनाई जा सकती है वेट लॉस टी. 

Weight Loss: वजन घटाने के लिए अक्सर ही खानपान में बदलाव किया जाता है. खाने के तरीकों से लेकर खाने की चीजों तक को थोड़ा बहुत बदला जाता है जिससे शरीर का वजन कम होने लगे और फैट बर्न (Fat Burn) होने में फायदा नजर आए. असल में बढ़ता वजन कई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के रिस्क फैक्टर्स में आता है, जैसे डायबिटीज, हाई कॉलेस्ट्रोल और दिल की दिक्कतें. इसीलिए वजन जरूरत से ज्यादा हो तो वेट लॉस करने की कोशिश की जाती है. यहां ऐसी ही एक चाय बनाने का तरीका दिया जा रहा है जिससे वजन कम होने में फायदा नजर आ सकता है. इस चाय (Weight Loss Tea) को बनाने का तरीका बता रही हैं न्यूट्रिशनिस्ट ख्याति रुपानी. ख्याति ने इस चाय को बनाने का तरीका अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है. 

सूखे मेवे खाने में कहीं आप भी तो नहीं करते यह एक बड़ी गलती, न्यूट्रिशनिस्ट ने बताया क्या है सही तरीका 

वजन घटाने वाली चाय | Weight Loss Tea 

इस चाय को बनाने के लिए आपको 2 चम्मच अलसी के बीज, एक चौथाई चम्मच दालचीनी का पाउडर, आधा चम्मच नींबू का रस (Lemon Juice) और एक कप पानी लेना होगा. 

सबसे पहले एक कप गर्म पानी में 2 चम्मच अलसी के बीज या अलसी के बीजों का पाउडर डालकर 10 से 15 मिनट तक रखें. इसके बाद तैयार पानी को छानें, हिलाएं और आधा चम्मच नींबू का रस और दालचीनी का पाउडर डालें और मिला लें. इस चाय को रोजाना पिया जा सकता है. हालांकि, वजन घटाने के लिए इस चाय को पीने के अलावा हेल्दी डाइट फॉलो करना भी जरूरी होता है. 

इस चाय में डलने वाले अलसी के बीजों में फाइबर की अत्यधिक मात्रा होती है जिससे पेट को लंबे समय तक भरा होने का एहसास मिलता है. इससे अपच की दिक्कत दूर होती है और ओवरईटिंग की संभावना भी कम हो जाती है जिससे वजन घटने में मदद मिलती है. इसके अलावा, अलसी के बीजों में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं जो कॉलेस्ट्रोल कम करने और दिल की सेहत को दुरुस्त रखने में असरदार होते हैं. 

दालचीनी के सेवन से मीठा खाने की क्रेविंग कम होती है जिससे ब्लड शुगर रेग्युलेशन में मदद मिलती है. इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो क्रोनिक बीमारियों की संभावना कम करते हैं. 

नींबू विटामिन सी से भरपूर होता है जिस चलते इससे स्किन की सेहत बनी रहती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) मजबूत होने में मदद मिलती है. इससे चाय का फ्लेवर तो बेहतर होता है लेकिन कैलोरी या शुगर कंटेट नहीं बढ़ता. 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Nutritionist के बताए 10 आसान Tips से कभी नहीं बढ़ेगा घटाया हुआ वजन

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
लीची भिगोकर खाना क्यों है जरूरी जानिए यहां, बिना सोक्ड लीची आपकी सेहत को कर सकता है खराब
न्यूट्रिशनिस्ट की बताई इस एक चाय से कम होने लगेगा वजन, फैट बर्न होने में दिखता है असर
दुनिया का सबसे खुशहाल देश फिनलैंड की कर रहे हैं ट्रिप प्लान, तो इन टॉप 4 डेस्टिनेशन की जरूर करें सैर
Next Article
दुनिया का सबसे खुशहाल देश फिनलैंड की कर रहे हैं ट्रिप प्लान, तो इन टॉप 4 डेस्टिनेशन की जरूर करें सैर
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;