युवती के डांस VIDEO पर X यूज़र की 'कोठा' टिप्पणी, मुंबई पुलिस आई हरकत में

प्रतीक ने 13 फरवरी को लिखा कि भारतीय स्कूल और कॉलेज  'सांस्कृतिक, पारंपरिक और क्षेत्रीय संस्कृति पर आधारित कार्यक्रमों को आयोजित करने के लिए जाने जाते हैं, लेकिन अब यह एक 'कोठा' बन गया है.

युवती के डांस VIDEO पर X यूज़र की 'कोठा' टिप्पणी, मुंबई पुलिस आई हरकत में

श्रुति पारिजा के डांस वीडियो पर एक्स यूजर ने किया विवादित कमेंट तो मुंबई पुलिस से मिला ये जवाब

मुंबई (Mumbai News) में एक युवती ने पुलिस से मदद मांगी है. दरअसल, इस युवती के एक वीडियो पर एक्स यूजर ने 'कोठा' (वेश्यालय से जुड़ा शब्द) शब्द का इस्तेमाल कर पोस्ट किया है. शनिवार को एक्स पर पोस्ट में श्रुति पारिजा ने आरोप लगाया कि एक्स यूजर प्रतीक आर्यन से वीडियो को हटाने के लिए अनुरोध किया लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया. विवाद तब खड़ा हुआ जब प्रतीक आर्यन ने पारिजा का एक कॉलेज प्रोग्राम में डांस करते हुए वीडियो पोस्ट किया.

प्रतीक आर्यन ने 13 फरवरी को किया था ये पोस्ट

प्रतीक ने 13 फरवरी को लिखा कि भारतीय स्कूल और कॉलेज  'सांस्कृतिक, पारंपरिक और क्षेत्रीय संस्कृति पर आधारित कार्यक्रमों को आयोजित करने के लिए जाने जाते हैं, लेकिन अब यह एक 'कोठा' बन गया है. ये सांस्कृतिक कार्यक्रमों के नाम पर आइटम गाने ला रहे हैं. भारत की शिक्षा प्रणाली के साथ-साथ सांस्कृतिक प्रणाली भी खतरे में है. भारत में नई पीढ़ी और कॉलेजों के पतन का यह बड़ा कारण है. 

दो दिन बाद पारिजा ने लिखा- बिना अनुमति के वीडियो क्यों पोस्ट किया

दो दिन बाद पारिजा ने पोस्ट पर टिप्पणी की कि इस वीडियो में जिस लड़की का डांस है वो वही हैं और जिस वीडियो को अब तक 25 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है, वह उनकी अनुमति के बिना पोस्ट किया गया है. ये कहते हुए पारिजा ने इस वीडियो को हटाने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि वह कॉलेज की छात्रा नहीं, बल्कि पेशेवर परफॉर्मर हैं. उन्होंने बताया कि वह वहां जज थीं. वहां स्टूडेंट्स और सभागार में मौजूद लोगों ने मुझसे इस कार्यक्रम में परफॉर्म करने का अनुरोध किया था. आपको ये कहने का अधिकार है कि क्या सही है क्या नहीं, लेकिन मुझे बदनाम करने का अधिकार नहीं है, जो इस कॉलेज से जुड़ी हुई भी नहीं है.

प्रतीक आर्यन ने दिया ये जवाब

हालांकि, आर्यन ने जवाब में कहा कि उन्होंने भारतीय स्कूलों और कॉलेजों के बारे में बात की थी और उन पर उंगली नहीं उठा रहे थे. उन्होंने लिखा कि मैंने स्पष्ट रूप से भारतीय स्कूलों और कॉलेजों के बारे में बात की, आपके बारे में कुछ नहीं कहा. मैंने आपको किसी भी तरह शर्मिंदा नहीं किया है, जैसा कि आपने आरोप लगाया है. मैंने इस बात का उल्लेख किया है कि सांस्कृतिक कार्यक्रम में आइटम गानों पर डांस हो रहा है, इसलिए ये स्पष्ट है कि मैंने कहीं भी आपका उल्लेख नहीं किया है. मेरा इरादा आपको नुकसान पहुंचाने का नहीं था. मैंने आपका वीडियो पोस्ट करते हुए कॉलेज प्रणाली पर अपनी सामान्य सी राय साझा की थी. कृपया देखें कि मैने आपके बारे में कुछ भी गलत नहीं कहा है. इसके साथ ही उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि पारिजा और उनके दोस्तों ने हिंसक बातें कहीं और कानूनी कार्रवाई के साथ उन्हें सलाखों के पीछे डालने की धमकी भी दी गई. सउन्होंने कहा कि जैसा कि मैंने पहले ही स्पष्ट किया मैंने आपके साथ दुर्व्यवहार नहीं किया है और आपने स्वीकार भी किया है (मेरे पास स्क्रीनशॉट है).इसके बावूजद भी आप मुझ पर दुर्व्यवहार और हिंसक अपशब्दों का आरोप लगा रही हैं तो आप जो करना चाहती हैं तो वो करें. मैं इस पोस्ट को नहीं हटा रहा.

पारिजा ने मुंबई पुलिस को टैग करते हुए किया ये पोस्ट

इसके बाद पारिजा ने मुंबई पुलिस के एक्स हैंडल को टैग करते हुए वीडियो हटाने का अनुरोध किया. उन्होंने  आर्यन से वीडियो हटाने का अनुरोध किया, लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया. उन्होंने लिखा कि प्रतीक आर्यन से मैंने पोस्ट हटाने के लिए बहुत बार अनुरोध किया. मैं जिस मंच पर नृत्य कर रही हूं, उसकी तुलना 'कोठा' से की गई. मुझे बदनाम किया जा रहा है, मेरी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया जा रहा है. मैंने वीडियो हटाने के लिए कहा तो उसने इंकार कर दिया. मुझे ब्लैकमेल किया गया. इस पोस्ट पर पुलिस ने जवाब दिया है और मामले को लेकर बात करने के लिए कॉन्टेक्ट डिटेल्स मांगे गए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पारिजा ने रविवार को कहा कि कॉपीराइट दावे के परिणामस्वरूप आर्यन के पोस्ट का वीडियो डिसेबल हो गया है, लेकिन वीडियो को हटाया नहीं गया है. ये पोस्ट अभी भी कुछ जगह उपलब्ध हो सकता है.