'करहल सीट ही क्यों चुनी', अखिलेश यादव ने NDTV को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में खोला राज

अखिलेश यादव ने कहा, जब समाजवादी पार्टी ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने और पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाली का वादा किया तो उन्हें अब्बाजान याद आने लगे.

लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एनडीटीवी को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में तमाम मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखी. अखिलेश ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने और मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट को चुनने से जुड़े सवाल का भी सधा हुआ सियासी जवाब दिया. अखिलेश ने कहा कि मैं आजमगढ़ की किसी सीट से चुनाव लड़ सकता था, या किसी अन्य जिले की सीट को भी चुन सकता था. लेकिन अपनी पार्टी के परंपरागत क्षत्र की करहल सीट को चुनने पर अखिलेश ने कहा कि वो सीएम योगी आदित्यनाथ से पहले चुनाव लड़ना चाहते थे. उनकी पार्टी जीत रही है, लिहाजा वो पहले अपने विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार खत्म करना चाहते हैं. लिहाजा करहल को चुना गया.

क्या karhal को इसलिए चुना कि बाद में पूर्वांचल में चुनाव प्रचार का पर्याप्त मौका मिल पाए तो उस पर मुस्कराते हुए अखिलेश ने कहा कि हमारा उद्देश्य यही था कि पहले अपना चुनाव प्रचार खत्म किया जाए. गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ उम्मीदवार उतारने पर अखिलेश यादव ने कहा कि हम अच्छा बेहतर प्रत्याशी उतारेंगे. लोग पूछेंगे कि वहां सीवर पानी का क्या व्यवस्था है. गोरखपुर में जमीनों के बदले सबसे ज्यादा अधिग्रहण का पैसा लेने का काम इन लोगों ने किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बिजली के क्षेत्र में बीजेपी ने कुछ काम नहीं किया है. जब समाजवादी पार्टी ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने और पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाली का वादा किया तो उन्हें अब्बाजान याद आने लगे. जब भी समाजवादी पार्टी कोई बड़ा ऐलान करती है तो उन्हें अब्बाजान की याद आ जाती है. उनसे पूछा गया कि यूपी में 300 यूनिट फ्री बिजली का वादा कैसे पूरा होगा, क्योंकि दिल्ली तो छोटा राज्य है, जबकि यूपी बहुत बड़ा प्रदेश है. इस पर अखिलेश ने कहा कि हमने 300 यूनिट मुफ्त बिजली का हवाहवाई वादा नहीं किया है. इस पर बिजली विभाग के तमाम विशेषज्ञों और बिजली नियामकों के पूर्व अधिकारियों से भी बात की है. इसकी पूरी योजना तैयार की है.