उद्धव ठाकरे ने फिर से लॉकडाउन को लेकर चेताया, कहा - या तो लोग...

महाराष्ट्र (Maharashtra covid tally) में बीते रविवार को पिछले एक महीने से अधिक समय में सबसे ज्यादा संक्रमण के 4092 मामले आए वहीं मंगलवार को 3663 नए मामले आए. पिछले सात दिनों से रोजाना लगातार 3,000 से ज्यादा मामले आ रहे हैं.

उद्धव ठाकरे ने फिर से लॉकडाउन को लेकर चेताया, कहा - या तो लोग...

महाराष्ट्र में पिछले सात दिनों से रोजाना लगातार 3,000 से ज्यादा मामले आ रहे हैं.

मुंबई:

महाराष्ट्र में कोविड-19 (Covid-19) के मामलों में हालिया बढ़ोतरी से चिंतित मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मंगलवार को नागरिकों से मास्क पहनने और उचित दूरी का पालन करने जैसे निर्देशों का सख्ती से पालन करने या एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown) का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा है. महाराष्ट्र (Maharashtra covid tally) में बीते रविवार को पिछले एक महीने से अधिक समय में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के 4092 मामले आए वहीं मंगलवार को 3663 नए मामले आए. पिछले सात दिनों से रोजाना लगातार 3,000 से ज्यादा मामले आ रहे हैं. मुंबई से 461 मामले आए. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नागरिकों को फैसला करना है कि क्या वे संक्रमण पर नियंत्रण के लिए फिर से लॉकडाउन का सामना करना चाहते हैं? उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के लोगों को इसका फैसला करना है कि वे लॉकडाउन चाहते हैं या कुछ पाबंदी के साथ मुक्त तरीके से रहना चाहते हैं. मास्क पहनें और भीड़-भाड़ करने से बचें अन्यथा फिर से लॉकडाउन का सामना करना पड़ेगा.''

मध्यप्रदेश में बड़ी गड़बड़ी, कोरोना वैक्सीन लेने वाले एक लाख से ज्यादा लोगों का एक ही मोबाइल नंबर

पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर उन्होंने संभागीय आयुक्तों और जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक कर हालात की समीक्षा की. उन्होंने ज्यादा संक्रमण वाले इलाके में प्रत्येक मरीज के संपर्क का पता लगाने की जरूरत को भी रेखांकित किया. ठाकरे ने कहा कि शादी समारोह आयोजित करने के लिए पुलिस की इजाजत की जरूरत होगी. राज्य सरकार ने कहा है कि पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 के ज्यादा उपचाराधीन मरीजों वाले जिलों की संख्या में वृद्धि हुई है.

फाइजर COVID-19 की एक खुराक का ही प्रभावी असर दिखाई देता है : स्टडी

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) से जारी एक बयान के मुताबिक चार जनवरी और 15 फरवरी के दौरान 15 जिलों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई. बयान में कहा गया, ‘‘हालांकि नौ फरवरी से 15 फरवरी के बीच ऐसे जिलों की संख्या बढ़कर 21 हो गयी.'' सीएमओ ने एक बयान में कहा कि राज्य के 36 जिलों में सतारा, सांगली, कोल्हापुर, जलगांव, धुले, बीड, लातूर, परभणी, अमरावती, अकोला, बुलढाना, यवतमाल,नागपुर और वर्धा में चार जनवरी और 15 फरवरी के बीच उपचाराधीन मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई.

बयान में कहा गया कि नौ फरवरी और 15 फरवरी के बीच पालघर, रायगढ, रत्नागिरि, पुणे, सतारा, कोल्हापुर, नासिक, अहमदनगर, जलगांव, धुले, औरंगाबाद, बीड, परभणी, अमरावती, अकोला, वाशिम, बुलढाना, यवतमाल, नागपुर, वर्धा और चंद्रपुर में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई. मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने भी आगाह किया कि शहर में कोविड-19 के मामलों के वृद्धि के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार दूसरी बार लॉकडाउन लगाने पर विचार कर सकती है.


महापौर ने संवाददाताओं से कहा कि मुंबई में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और यह नगर निगम और राज्य सरकार के लिए चिंता की बात है. पेडनेकर ने कहा कि प्राधिकारों ने शहर में स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार किया था लेकिन वे फिर से इसकी समीक्षा कर सकते हैं.

कोरोना का नया वेरिएंट कितना खतरनाक? जानिए...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)