मुंबई में वैक्सीनेशन को लेकर छात्रों ने की शिकायत- ''टीके की 100 खुराक, 400 की कतार''

पढ़ाई के लिए विदेश जाने के इच्छुक कई छात्रों को मुंबई के सरकारी राजावाड़ी अस्पताल में लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस रोधी टीके की खुराक नहीं मिलने से बिना टीका लिये ही लौटना पड़ा.

मुंबई में वैक्सीनेशन को लेकर छात्रों ने की शिकायत- ''टीके की 100 खुराक, 400 की कतार''

मुंबई में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर छात्रों ने की शिकायत. (फाइल फोटो)

मुंबई:

पढ़ाई के लिए विदेश जाने के इच्छुक कई छात्रों को मुंबई के सरकारी राजावाड़ी अस्पताल में लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस रोधी टीके की खुराक नहीं मिलने से बिना टीका लिये ही लौटना पड़ा. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने पिछले सप्ताह ऐसे छात्रों के लिए सोमवार से बुधवार तक शहर के कस्तूरबा अस्पताल, राजावाड़ी अस्पताल और कूपर अस्पताल से बिना पंजीकरण के ‘वॉक-इन' टीकाकरण की घोषणा की थी.

कोविड-19: पिछले 24 घंटे में 1.27 लाख नए केस आए सामने और 2,795 की मौत

सूत्रों ने बताया कि बीएमसी ने मंगलवार को इस श्रेणी के तहत 500 टीके की खुराक आवंटित की थी. कस्तूरबा और कूपर अस्पतालों को 200-200 खुराक और राजावाड़ी अस्पताल को 100 खुराक मिली थी. लेकिन राजावाड़ी अस्पताल में सुबह बड़ी संख्या में छात्र आ गये. छात्र संदेश अवहद ने बीएमसी और महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे को टैग कर ट्वीट किया, ‘‘हमलोग राजावाड़ी, घाटकोपर में टीकाकरण के लिए कतार में लगे हैं. टीकों की 100 खुराक आवंटित की गयी है और कतार में 400 से अधिक लोग हैं. कृपया यह सुनिश्चित करें कि हम सभी को टीका मिले.''

कोरोना का सबसे पहली बार भारत में मिला स्ट्रेन 'डेल्टा वैरिएंट' कहलाएगा, WHO ने किया नामकरण


अन्य छात्र राहुल ने कहा कि वह सुबह सात बजे से कतार में लगा है जबकि अन्य लोग उससे पहले से ही कतार में लगे हैं. बीएमसी के अधिकारियों के अनुसार तीनों केंद्रों पर पहले दिन वॉक-इन-टीकाकरण के तहत करीब 1,000 खुराक दी गयी थी, कस्तूरबा अस्पताल में 338, कूपर अस्पताल में 324 और राजावाड़ी अस्पताल में 325 खुराक दी गयी थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वैक्सीनेट इंडिया: वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स से घबराने की जरूरत नहीं- महामारी विशेषज्ञ



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)