'50 रुपए कम कीजिए, कुछ दिनों के बाद...' : पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने के केंद्र के फैसले पर लालू यादव

पेट्रोल पांच रुपये और डीजल 10 रुपये प्रति लीटर सस्ता होगा. उत्पाद शुल्क में कमी चार नवंबर से प्रभावी होगी.

'50 रुपए कम कीजिए, कुछ दिनों के बाद...' : पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने के केंद्र के फैसले पर लालू यादव

राजद अध्यक्ष लालू यादव.

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने आम लोगों को महंगाई से कुछ राहत देने के लिये बुधवार को अहम कदम उठाते हुए पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती की है. पेट्रोल पांच रुपये और डीजल 10 रुपये प्रति लीटर सस्ता होगा. उत्पाद शुल्क में कमी चार नवंबर से प्रभावी होगी. इसके साथ पेट्रोल की कीमत दिल्ली में मौजूदा 110.04 रुपये प्रति लीटर से घटकर 105.04 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल की कीमत 98.42 रुपये प्रति लीटर से घटकर 88.42 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी.

केंद्र सरकार के इस फैसले पर राजद अध्यक्ष लालू यादव ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने इसे नाटक करार देते हुए कहा कि वे कुछ दिनों के बाद इनकी कीमतें फिर बढ़ा देंगे. न्यूज एजेंसी एएनआई पर जारी उनके वीडियो में लालू यादव कहते हैं, 'नरेंद्र मोदी जो नाटक किए हैं, वो फर्जी है. 50 रुपए (प्रति लीटर) कम करना चाहिए. इससे कोई राहत नहीं मिली है. वे कुछ दिनों के बाद इसे फिर बढ़ा देंगे.'

बता दें, यह उत्पाद शुल्क में की गयी अब तक की सबसे अधिक कमी है और इससे साथ मार्च 2020 से मई 2020 के बीच पेट्रोल एवं डीजल पर करों में 13 रुपये और 16 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि का एक हिस्सा वापस ले लिया गया है. उत्पाद शुल्क में उस समय की वृद्धि से पेट्रोल पर केंद्रीय कर 32.9 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 31.8 रुपये प्रति लीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था.

BJP शासित 9 राज्यों में मिलेगा और सस्ता पेट्रोल-डीजल, अतिरिक्त कटौती का किया ऐलान, यहां देखें कीमत

केंद्र सरकार के फैसले के बाद भाजपा शासित नौ राज्यों - असम, त्रिपुरा, मणिपुर, कर्नाटक, गोवा, उत्तर प्रदेश, गुजरात, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में अतिरिक्त कटौती का ऐलान किया है. इससे पहले दीपावली की पूर्व संध्या पर केंद्र सरकार ने पेट्रोल 5 रुपए प्रति लीटर और डीजल 10 रुपए प्रति लीटर सस्ता करने का ऐलान किया था. कीमतों में कटौती 4 नवंबर गुरुवार से लागू होगी. 

पेट्रोल-डीजल पर राहत, जानिए अब तेल पर केंद्र और राज्यों का कितना टैक्स


गौरतलब है कि ईंधन की कीमतों में लगातार हुई वृद्धि की विपक्षी दलों ने कड़ी आलोचना की थी. खासकर कांग्रेस ने आलोचना करते हुए सरकार से उत्पाद शुल्क वापस लेने की मांग की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पेट्रोल और डीजल के दाम में और कटौती की जरूरत, पहले से ही ज्यादा है कीमत