कोलकाता में पुलिस ने AIMIM प्रमुख ओवैसी को रैली की इजाजत देने से किया इनकार

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले ऑल इंडिया मजलिस‑ए‑इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रचार अभियान को आगे बढ़ाने के लिए होनी थी रैली

कोलकाता में पुलिस ने AIMIM प्रमुख ओवैसी को रैली की इजाजत देने से किया इनकार

ऑल इंडिया मजलिस‑ए‑इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो).

कोलकाता:

ऑल इंडिया मजलिस‑ए‑इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की कोलकाता (Kolkata) में गुरुवार को होने वाली रैली पुलिस के अनुमति देने से इनकार करने के बाद रद्द कर दी गई है. पार्टी के नेता जमीर उल हसन ने बुधवार की रात में समाचार एजेंसी पीटीआई के हवाले से यह बात कही है. अप्रैल-मई में बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly Elections) से पहले एआईएमआईएम के चुनाव प्रचार अभियान को आगे बढ़ाने के लिए यह रैली होने वाली थी. 

एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की पश्चिम बंगाल के कोलकाता में गुरुवार को होने वाली रैली को पुलिस से अनुमति नहीं मिलने की वजह से रद्द कर दिया गया है. पार्टी के सूत्रों ने बताया कि ओवैसी को अल्पसंख्यक बहुल मेतियाब्रुज़ इलाके में रैली के जरिए बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी का प्रचार अभियान का आगाज़ करना था.

एआईएमआईएम के प्रदेश सचिव जमीर उल हसन ने बताया कि पुलिस ने रैली के लिए उन्हें इजाजत नहीं दी. हसन ने बताया, "हमने इजाज़त के लिए 10 दिन पहले आवेदन दिया था, मगर आज हमें पुलिस ने सूचित किया कि वे हमें रैली करने की इजाज़त नहीं देंगे. हम टीएमसी के ऐसे हथकंडों के आगे झुकेंगे नहीं. हम चर्चा करेंगे और कार्यक्रम की नई तारीख बताएंगे."


इस मामले में कोलकाता पुलिस ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है. तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद सौगत रॉय ने रैली के लिए इजाज़त नहीं मिलने में उनकी पार्टी की भूमिका से इनकार किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बिहार के विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम के पक्ष में अच्छे नतीजे आने के बाद असदुद्दीन ओवैसी बंगाल के चुनावी दंगल में पार्टी की किस्मत आजमाना चाहते हैं. बिहार में उनकी पार्टी 20 सीटों पर चुनाव लड़ी और पांच सीटों पर उसने जीत हासिल की. उसे इन सीटों पर 14.28 प्रतिशत वोट मिले हैं.