'मुझे अहंकारी न कहें', बार-बार आलोचना करने पर हाथ जोड़कर बोले नीतीश कुमार

नीतीश कुमार ने इस बात से भी इनकार किया है कि कोरोनावायरस लॉकडाउन के दौरान उनकी चुप्पी की वजह से उनके और उनकी पार्टी जेडीयू के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर कोई रोष या असंतोष था.

पटना:

बिहार विधान सभा चुनावों  (Bihar Assembly Elections) के नतीजों में तीसरी पार्टी बनने के बावजूद जनता दल यूनाइटेड (Janta Dal United) के अध्यक्ष नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सातवीं बार राज्य के मुख्यमंत्री होने जा रहे हैं. इस बीच उन्होंने खुद को अंहकारी या अभिमानी कहे जाने को खारिज किया है. उन्होंने इस बात से भी इनकार किया है कि कोरोनावायरस लॉकडाउन के दौरान उनकी चुप्पी की वजह से उनके और उनकी पार्टी जेडीयू के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर कोई रोष या असंतोष था.

बार-बार अभिमानी या अंहकारी होने का आरोप लगाए जाने पर नीतीश कुमार ने हाथ जोड़कर जवाब देते हुए कहा, "कृपया, मुझे अभिमानी मत कहिए." सीएम ने कहा, 'हमने कभी दावा नहीं किया कि मैं ही सीएम होऊंगा.'

मंगलवार (10 नवंबर) को आए चुनावी नतीजों में नीतीश कुमार की अगुवाई वाले एनडीए गठबंधन को 243 सदस्यों वाली विधानसभा में 125 सीटें आई हैं. एनडीए में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. बीजेपी को 74 जबकि नीतीश कुमार की पार्जेटी डीयू को 43 सीटें मिली हैं. 2015 में जेडीयू को 71 सीटें मिली थीं. इनके अलावा गठबंधन में वीआईपी और हम को चार-चार सीटें मिली हैं.

'आखिरी चुनाव' वाले बयान पर नीतीश कुमार ने दी सफाई, बोले- 'रिटायरमेंट की बात नहीं की थी'

तेजस्वी यादव के नेतृतव वाले मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) 75 सीटें जीतकर राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. तेजस्वी ने चुनाव नतीजों पर कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अंतरात्मा की आवाज सुनकर इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि जनादेश उनके खिलाफ है. जब मीडिया ने नीतीश कुमार से सातवीं बार मुख्यमंत्री बनने पर पूछा तो उन्होंने कहा, "इसका फैसला एनडीए गठबंधन के नेता करेंगे." आज बिहार एनडीए की बैठक है. संभव है कि इसमें गठबंधन अपना नेता चुन ले.

चिराग पासवान को लेकर बोले नीतीश कुमार: 'बीजेपी उनके बारे में फैसला करे जो वोट काटते हैं'


जब उनसे लॉकडाउन के दौरान चुप्पी और प्रवासी मजदूरों की घर वापसी की आलोचना करने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, "आपको यह नहीं पता कि लॉकडाउन के दौरान हमने क्या प्रयास किए? हमने बिहार में इतना काम किया है लेकिन कोई झूठ फैला रहा है, तो इसमें हम क्या कर सकते हैं?"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि चुनाव अभियान के दौरान नीतीश कुमार को कई सभाओं में विरोध का सामना करना पड़ा था. एक रैली में उन पर प्याज भे फेंके गए थे.