निर्णय लेने में तेजी लाएं अधिकारी, देरी स्वीकार्य नहीं: नितिन गडकरी

नितिन गडकरी ने कहा कि उन्होंने अपने मंत्रालय में नकारा अधिकारियों की सूची मांगी है ताकि उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाए.

निर्णय लेने में तेजी लाएं अधिकारी, देरी स्वीकार्य नहीं: नितिन गडकरी

नितिन गडकरी ने कर्मचारियों को दी हिदायत

नई दिल्ली:

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को अपने मंत्रालय के अधिकारियों से निर्णय लेने में तेजी लाने को कहा. उन्होंने तीन दिन में फाइलों का निपटारा करने को कहा. साथ ही यह भी कहा कि जो अधिकारी काम नहीं करेंगे, उन्हें जबरन सेवानिवृत्ति दी जाएगी. मंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने मंत्रालय में नकारा अधिकारियों की सूची मांगी है ताकि उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाए. इससे पहले, गडकरी ने सोमवार को भी काम नहीं करने वाले अधिकारियों को आगाह किया था.


अर्थव्यवस्था पर नितिन गडकरी का बयान- पैसों की कमी से गुजर रहा भारत, जल्द से जल्द लेने होंगे फैसले

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा था कि ये अधिकारी न तो स्वयं निर्णय लेते हैं और न ही दूसरे को काम करने देते हैं। ऐसे अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखा जाएगा. गडकरी ने राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्ठता पुरस्कार समारोह में कहा कि मैं वैसे लोगों को पसंद करता हूं जो निर्णय करते हैं. कुछ गलतियां हो सकती हैं जो अपराध नहीं है लेकिन महीनों और वर्षों तक फाइलें दबाकर रखने को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. मैंने सचिव से जबरन सेवानिवृत्ति को लेकर अधिकारियों की सूची देने को कहा है.
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)