अब महाराष्ट्र कांग्रेस में उठापटक, शीर्ष प्रवक्ता ने छोड़ा पद? सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी

10 साल से मुख्य प्रवक्ता रहे कांग्रेस महासचिव सचिन सावंत को कथित तौर पर सहायक प्रवक्ता के पद पर डिमोट कर दिया गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कार्रवाई से गुस्साए सचिन सावंत ने मंगलवार को अपना इस्तीफा दे दिया. सावंत ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी अपना पद हटा दिया है.

अब महाराष्ट्र कांग्रेस में उठापटक, शीर्ष प्रवक्ता ने छोड़ा पद? सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी

सचिन सावंत को कथित तौर पर सहायक प्रवक्ता के पद पर डिमोट कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र (Maharashtra) में कांग्रेस Congress) के लिए मुसीबत खड़ी करते हुए, राज्य में उसके मुख्य प्रवक्ता सचिन सावंत (Sachin Sawant) ने कथित तौर पर अपना पद छोड़ दिया है. उनकी यह कार्रवाई पार्टी के राज्य प्रमुख नाना पटोले (Nana Patole) द्वारा की गई नई नियुक्तियों के विरोध में हुई है. खबर है कि नाना पटोले के कदम से परेशान सचिन सावंत ने कथित तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी में अपने लिए नई भूमिका का अनुरोध किया है.

माना जाता है कि नाना पटोले ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के पूर्व नेता अतुल लोंधे को महाराष्ट्र कांग्रेस का नया मुख्य प्रवक्ता नियुक्त किया है. लोंधे 2016 में कांग्रेस में शामिल हुए थे.

10 साल से मुख्य प्रवक्ता रहे कांग्रेस महासचिव सचिन सावंत को कथित तौर पर सहायक प्रवक्ता के पद पर डिमोट कर दिया गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कार्रवाई से गुस्साए सचिन सावंत ने मंगलवार को अपना इस्तीफा दे दिया. सावंत ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी अपना पद हटा दिया है.

महाराष्ट्र सरकार औऱ ड्रग माफियाओं के बीच क्या है कनेक्शन, आर्यन खान केस में शिवसेना नेता की याचिका पर भड़की बीजेपी

हालांकि, NDTV से बात करते हुए उन्होंने मुख्य प्रवक्ता पद से इस्तीफा देने या अपने राज्य प्रमुख के साथ किसी भी अनबन से इनकार किया है, लेकिन यह स्वीकार किया कि उन्होंने सोनिया गांधी को नई भूमिका के लिए चिट्ठी लिखी थी और अपने वर्तमान पद से मुक्त करने के लिए कहा था. सावंत ने इससे ज्यादा कुछ भी बताने से इनकार कर दिया.

तीन दशकों से राज्य में कांग्रेस का चेहरा रहे सावंत कथित तौर पर पद से हटाए जाने से अपमानित महसूस कर रहे थे. वह प्रतिद्वंद्वी भाजपा और पिछली देवेंद्र फडणवीस सरकार के खिलाफ पार्टी की सबसे मजबूत आवाजों में से एक रहे हैं. 

प्रियंका गांधी का 'फीमेल कार्ड' UP में लगाएगा नैया पार, 32 साल से सत्ता से बाहर कांग्रेस को मिलेगा फायदा?

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति के बाद से 56 वर्षीय नाना पटोले ने पार्टी के लिए हलचल मचा दी है. माना जाता है कि कई दिग्गज उनके फैसलों से नाराज हैं. भाजपा के पूर्व सांसद पटोले 2019 के आम चुनावों से ठीक पहले बीजेपी नेतृत्व के साथ मतभेद के बाद कांग्रेस में शामिल हो गए थे.

महाराष्ट्र में कांग्रेस के शीर्ष पद पर पदोन्नत होने के बाद से पटोले ने कई विवादास्पद टिप्पणियां की हैं, जिससे ने केवल उनकी अपनी पार्टी के लोग बल्कि सत्तारूढ़ गठबंधन में सहयोगी शिवसेना और राकांपा के भी लोग नाराज हुए हैं. जुलाई में, उन्होंने आरोप लगाया था कि राज्य सरकार उनकी निगरानी करवा रही है. उन्होंने बार-बार कांग्रेस के अकेले चुनाव लड़ने की बात भी की है, जिस पर सहयोगी एनसीपी और शिवसेना ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी.


VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com