महाराष्ट्र : प्राइवेट विमान से मुंबई आने के खुलासे पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने VIDEO जारी कर दी सफाई

मुंबई में वसूली का रैकेट चलाने के आरोपों का सामना करह रहे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के बचाव में एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने भी कई तर्क और सबूत पेश किए.

महाराष्ट्र : प्राइवेट विमान से मुंबई आने के खुलासे पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने VIDEO जारी कर दी सफाई

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री अनिल देशमुख. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह के पत्र लिखकर राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों के बाद से विवाद खत्म होता नहीं दिख रहा है. अब गृहमंत्री की एक टिकट वायरल हो रही है, जिससे15 फरवरी को प्राइवेट विमान से मुंबई आए थे. इस पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने वीडियो ट्वीट करके सफाई दी है. उन्होंने बताया, 'पिछले कुछ दिनों से इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में  मेरे बारे में कई गलत खबरें चल रही हैं. आप सबको मालूम है कि कोरोना के बीते एक साल के समय में मैं पूरे प्रदेश भर में घूम कर पुलिसकर्मियों से मिलता रहा और उनका हौसला बढाता  रहा. बीते 5 फवरी को मेरी कोरोना  रिपोर्ट पॉज़िटिव आई. 5 फरवरी से लेकर 15 फरवरी तक मैं अस्पताल में रहा.'

उन्होंने बताया, '15 फरवरी को अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद डॉक्टर की सलाह थी कि मैं 10 दिन होम क्वारन्टीन में रहूं. तो 15 तारीख को ही मैं प्राइवेट जहाज से मुम्बई आ गया. और उसके बाद डॉक्टर्स की सलाह पर ही रोज देर रात में  मैं पार्क में प्राणायाम के लिए जाता था.'

मुंबई के पूर्व कमिश्नर ने मुकेश अंबानी को खतरे वाले केस से ध्यान बंटाने के लिए लगाए 'अनर्गल आरोप' : शरद पवार

साथ ही उन्होंने बताया, 'नागपुर में मेरे हॉस्पिटल में रहने के दौरान और बाद में होम क्वारन्टीन के दरम्यान मैंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा कुछ मीटिंग्स और कार्यक्रम अटेंड किये थे. बाद में होम क्वारन्टीन के बाद 1 मार्च से हमारा बजट अधिवेशन शुरू होना था, जिसके लिए सत्र में प्रश्नोत्तर और सूचनाओं पर ब्रीफिंग के लिए कुछ अधिकारी मेरे घर पर आते  थे.  शासकीय काम से पहली बार 28 फरवरी को मैं मेरे घर से बाहर निकला.'

महाराष्ट्र : मंत्रिपद नहीं छिनेगा, लेकिन बदला जा सकता है गृहमंत्री अनिल देशमुख का विभाग : सूत्र

बता दें, मुंबई में वसूली का रैकेट चलाने के आरोपों का सामना करह रहे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के बचाव में एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने भी कई तर्क और सबूत पेश किए. शरद पवार ने सोमवार को कहा कि अनिल देशमुख को 5 से 15 फरवरी के बीच कोरोना संक्रमित होने के कारण अस्पताल में भर्ती थी. उसके बाद वह 10 दिनों तक होम आइसोलेशन में घर पर रहे.  पवार ने कहा कि अनिल देशमुख (Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh )पर जिस वक्त 100 करोड़ रुपये के वसूली रैकेट चलाने के लिए पुलिस अफसरों से चर्चा करने का आऱोप लगाया जा रहा है, उस वक्त तो वह बीमार थे और अस्पताल में भर्ती थे.


Video : "परमबीर सिंह की धमाकेदार चिट्ठी के जवाब में अस्पताल के दस्तावेज" - शरद पवार ने संभाला मोर्चा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com