"अंधभक्तों की फौज से लेना होगा सबक" : अमेरिका में हिंसा पर बोले कुमार विश्वास

निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों ने कैपिटल भवन (अमेरिकी संसद भवन) पर हमला किया और पुलिस से भिड़ गए.

अमेरिका की घटना पर कुमार विश्वास की प्रतिक्रिया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

अमेरिकी संसद परिसर कैपिटॉल बिल्डिंग के बाहर ट्रंप समर्थकों की घेराबंदी और हिंसक प्रदर्शन पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी हैं. दुनियाभर देश और नेता इस घटना की आलोचना कर चुके हैं. मशहूर कवि कुमार विश्वास ने यूएस कैपिटॉल में हुई हिंसा की आलोचना करते हुए दुनियाभर के देशों और नागरिकों को चेताया है. उन्होंने कहा कि वर्चस्ववादी और आत्ममुग्ध नायकों के अनुयायी किसी भी देश को गर्त में ला जा सकते हैं और US Capitol इसका ताजा सबूत है. 

कुमार विश्वास ने गुरुवार को अपने ट्वीट में लिखा, "वर्चस्ववादी, आत्ममुग्ध और “बस मैं ही मैं” गाने-कहने-जीने वाले नायकों के अंधे तर्कशून्य अनुयायी, किसी उन्नततम देश तक को किस गर्त में ले जा सकते हैं USCapitol इसका ताज़ा सबूत है. विश्वभर के देशों, सभ्य नागरिकों को इस घटना, इसके नमूने-नियामक व उसके अंधभक्तों की फ़ौज से सबक़ लेना होगा."

अमेरिका में लोकतंत्र पर एक अभूतपूर्व हमले के तहत निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों ने कैपिटल भवन (अमेरिकी संसद भवन) पर हमला किया और पुलिस से भिड़ गए. इस घटना में चार लोग मारे गए और राष्ट्रपति तथा उपराष्ट्रपति के रूप में क्रमश: जो बाइडन एवं कमला हैरिस के निर्वाचन को सत्यापित करने की प्रक्रिया बाधित हुई. 
कांग्रेस ने इस घटना के चलते हुए विलंब के बाद अंतत: बृहस्पतिवार को अपने संयुक्त सत्र में बाइडन तथा हैरिस के निर्वाचन की औपचारिक रूप से पुष्टि कर दी.


(भाषा के इनपुट के साथ)

वीडियो: कैपिटल हिल्स के बाहर डटे ट्रंप समर्थक, देखिए NDTV की ग्राउंड रिपोर्ट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com