सेक्स स्कैंडल : पूर्व मंत्री पर आरोप लगाने वाली महिला ने बताया जान का खतरा, चीफ जस्टिस को लिखा पत्र

Ramesh Jarkiholi पहले कांग्रेस में थे और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन से बगावत करने वाले उन अहम विधायकों में थे, जिन्होंने येदियुरप्पा सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

सेक्स स्कैंडल : पूर्व मंत्री पर आरोप लगाने वाली महिला ने बताया जान का खतरा, चीफ जस्टिस को लिखा पत्र

Sex Scandal से कर्नाटक की राजनीति गरमाई हुई है

बेंगलुरु:

Karnataka Sex Scandal : कर्नाटक के पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली (Ramesh Jarkiholi) से जुड़े सेक्स स्कैंडल में पीड़िता ने अपनी जान को खतरा बताया है. महिला ने कहा है कि पूर्व मंत्री बेहद प्रभावशाली व्यक्ति हैं. लिहाजा कर्नाटक हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस (Karnataka Chief Justice) मामले की जांच अपनी निगरानी में कराएं.सेक्स फॉर जॉब से जुड़े इस मामले में सियासत भी तेज हो गई है. विपक्षी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने भी कर्नाटक सरकार पर सवाल उठाए हैं. कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार और जरकीहोली के बीच जुबानी जंग भी देखने को मिली है.

पीड़िता ने रविवार को लिखे गए पत्र में कोर्ट से अनुरोध किया कि इस गंभीर मामले में उसकी जान को आसन्न खतरे का वह संज्ञान ले. इस मामले की जांच कराए और कर्नाटक सरकार को उसे सुरक्षा देने का निर्देश देते हुए न्याय सुनिश्चित करे.महिला ने आरोप लगाया है कि केस की जांच कर रही एसआईटी पूरी तरह से जरकीहोली के प्रभाव में काम कर रही है. कर्नाटक सरकार भी जरकीहोली का बचाव कर रही है, ऐसे में उसे जांच एजेंसी पर भरोसा नहीं रह गया है.


दुष्कर्म पीड़िता होने का दावा करते हुए महिला ने कुब्बन पार्क थाने में रमेश जरकीहोली के खिलाफ शिकायत दी है, जिसके आधार पर एक एफआईआर दर्ज की गई है. महिला ने कहा कि जरकीहोली प्रभावशाली व्यक्ति हैं और पहले भी सार्वजनिक रूप से उन्हें धमका चुके हैं कि वह अपने खिलाफ आरोपों को हटाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीड़िता ने कहा कि उसे और उसके माता-पिता को रमेश जरकीहोली से जान का खतरा है. लिहाजा एसआईटी से परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की गई है. महिला ने आरोप लगाया है कि अनुरोध करने के बावजूद एसआईटी ने अभी तक उसे या उसके माता-पिता को सुरक्षा मुहैया नहीं कराई है.