'कर्नाटक से अयोध्या आ रहे हैं भगवान राम और लव-कुश', राम मंदिर में रखी जाएगी इस शिल्पकार की बनाई मूर्ति

उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर के परिसर में रखने के लिए कर्नाटक से भगवान राम और उनके दोनों पुत्रों- लव और कुश की खास मूर्तियां अयोध्या मंगवाई है. इन मूर्तियों को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़े जा चुके शिल्पकार रामामूर्ति ने बनाया है.

'कर्नाटक से अयोध्या आ रहे हैं भगवान राम और लव-कुश', राम मंदिर में रखी जाएगी इस शिल्पकार की बनाई मूर्ति

राम मंदिर के परिसर में रखी जाएगी भगवान राम की तीन फीट लंबी मूर्ति.

उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर (Ayodhya Ram Mandir Construction) के परिसर में रखने के लिए कर्नाटक से भगवान राम और उनके दोनों पुत्रों- लव और कुश की खास मूर्तियां (Idols of Lord Rama and Luv-Kush) अयोध्या मंगवाई है. इन मूर्तियों को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़े जा चुके शिल्पकार रामामूर्ति ने बनाया है. रामामूर्ति को भगवान राम की भव्य आदमकद मूर्ति बनाने के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था. उनका कहना है कि अब उन्हें अयोध्या मंदिर के परिसर में उनकी बनाई मूर्ति रखे जाने का सम्मान मिलने से वो बहुत खुश हैं. उन्होंने कहा कि 'मैंने दिल से ये मूर्तियां बनाई हैं. मैं इस ऐतिहासिक घटना का हिस्सा बनकर बहुत खुश हूं.'

शिल्पकार रामामूर्ति को कुछ महीने पहले चार मूर्तियां बनाने का ऑर्डर मिला था. उनकी बनाई गई भगवान राम की 3 फीट लंबी मूर्ति अयोध्या में राम मंदिर परिसर में स्थापित की जाएगी, जबकि भगवान राम, लव और कुश की डेढ़ फीट वाली मूर्तियां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट करेंगे. इसके लिए शुक्रवार को बेंगलुरु के केंगारी से इन मूर्तियों को अयोध्या के लिए रवाना कर दिया गया है.

50i95thg

इन मूर्तियों को टीक वुड से बनाया गया है और इनमें चोल वंश की हस्तशिल्प कला के अंदाज़ के साथ दक्षिण भारत की अन्य शिल्पकलाओं और संस्कृति का समावेश किया गया है. मूर्ति में भगवान राम का एक पैर थोड़ा सा टेढ़ा रखा गया है. उनके शरीर के ऊपरी हिस्से को वीरता से भरा यानी पौरूष लुक दिया गया है, वहीं निचले हिस्से को थोड़ा भावुक या स्त्रैण रूप दिया गया है. इसे आभूषणों से सजाया गया है. उनके कोदांड (धनुष और तीर) मूर्ति को और आकर्षक बनाते हैं.

5m170ueg

रामामूर्ति को जिस मूर्ति के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया भगवान राम की वो आदमकद मूर्ति अयोध्या के शोध संस्थान में रखी गई है. उन्हें 2015-16 में इस 7.5 फीट की मूर्ति के लिए राष्ट्रपति की ओर से सम्मानित किया गया था. इस मूर्ति को कर्नाटक हैंडीक्राफ्ट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन से अयोध्या शोध संस्थान ने 2017 में लगभग 32 लाख की कीमत में खरीदा था.  योगी आदित्यनाथ को ये मूर्ति पसंद आई थी, इसी के आधार पर यूपी सरकार ने रामामूर्ति को चार मूर्तियां बनाने का ऑर्डर दिया था. 

Video: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : अयोध्या प्रशासन की विज्ञप्ति की दास्तान


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com