IAF के बेड़े में शामिल हुआ राफेल, वायुसेना की बढ़ाएगा शान

आखिरकार लड़ाकू विमान राफेल जेट्स भारतीय वायुसेना में शामिल हो गए हैं. गुरुवार को हरियाणा के अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर औपचारिक समारोह में इन विमानों को वायुसेना के बेडे़ में शामिल कर लिया गया.

खास बातें

  • IAF में शामिल हुआ राफेल
  • पहले पांच बेड़ों का औपचारिक इंडक्शन
  • भारतीय और फ्रेंच रक्षामंत्री रहे मौजूद
नई दिल्ली:

Rafale Induction: आखिरकार लड़ाकू विमान राफेल जेट्स भारतीय वायुसेना (Rafale Jets Induction in IAF) में शामिल हो गए हैं. गुरुवार को हरियाणा के अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर औपचारिक समारोह में इन विमानों को वायुसेना के बेडे़ में शामिल कर लिया गया. राफेल को भारतीय वायुसेना के लिए एक मील का पत्थर माना जा रहा है. 2016 में फ्रांस के साथ हुए 36 विमानों की डील के बाद इस साल जुलाई में पहले पांच विमान भारत आ गए थे, जिसके बाद गुरुवार का इनका इंडक्शन हुआ है. 

रक्षामंत्री ने कहा कि राफेल  भारत के लिए गेमचेंजर होगा. उन्होंने कहा कि राफेल का इंडक्शन भातीय वायुसेना के लिए मील का पत्थर साबित होगा. उन्होंने कहा कि भारत आजादी, समानता और भाईचारे के प्रति प्रतिबद्ध है.

यह भी पढ़ें: तस्वीरों में देखें : राफेल की IAF में एंट्री, भारतीय वायुसेना की शान बढ़ाएगा राफेल लड़ाकू विमान

बता दें कि ये विमान वायुसेना की 17वीं स्क्वॉड्रन में शामिल होंगे, जिन्हें 'Golden Arrows' कहा जाता है. इस औपचारिक समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अपनी फ्रेंच समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली के साथ मौजूद रहे. पार्ली खासकर राफेल के इंडक्शन के लिए भारत आई हैं. इस मौके पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और एयरफोर्स के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहे.

राफेल को बेड़े में शामिल करने से पहले यहां इसकी पारंपरिक 'सर्वधर्म पूजा' की गई. इस दौरान राफेल को वॉटर कैनन से सलामी दी गई, जिसके बाद राफेल और तेजस विमानों ने हवाई उड़ान भरी.

इसके पहले फ्लोरेंस पार्ली को दिल्ली में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उनसे पालम एयरफोर्स स्टेशन पर मुलाकात की थी, जिसके बाद वो अंबाला एयरफोर्स स्टेशन के लिए निकले थे.

Video: भारतीय वायुसेना में रफाल विमान की औपचारिक एंट्री


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com