किसान आंदोलन: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले, किसान संगठनों के साथ चर्चा को हरदम तैयार

कृषि मंत्री ने कहा कि पिछले छह वर्ष में किसानों और कृषि के लिए जो प्रयास किए हैं वे पहले कभी नहीं हुए. किसानों की आमदनी को दोगुनी करने के लिए प्रयास किए गए हैं.

किसान आंदोलन: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले, किसान संगठनों के साथ चर्चा को हरदम तैयार

कृषि मंत्री ने कहा, पिछले छह वर्ष में किसानों और कृषि के लिए जो प्रयास किए हैं वे पहले कभी नहीं हुए

नई दिल्ली:

Farmer's Protest: किसान आंदोलन (Kisan Aandolan)  को लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि सरकार किसान संगठनों से बातचीत के लिए हरदम तैयार है और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) इस संबंध में भी अपनी ओर से प्रस्ताव दे चुके हैं. उन्‍होंने कहा कि किसानों के साथ हमारी बातचीत काफी दिनों तक चली है. सरकार की ओर से किया गया प्रस्‍ताव अभी भी किसानों के पास है और वे आपस में इस पर चर्चा कर रहे हैं. कुछ समय बाद ऐसी परिस्थिति आएगी जब उनका प्रस्‍ताव आए तब हम दोनों पक्ष फिर मिलकर चर्चा करेंगे. कृषि मंत्री ने कहा कि मुझे विश्‍वास है कि दोनों पक्ष मिलकर समाधान तलाश लेंगे.

कृषि मंत्री के 'खून की खेती कांग्रेस करती है' वाले बयान पर दिग्विजय सिंह का जवाबी वार

राज्‍यसभा में सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी इस बारे में जवाब देने वाले है, क्‍या उनकी ओर से रखे गए प्रस्‍ताव पर किसानों को रिएक्‍ट करना चहिए, इस सवाल पर कृषि मंत्री ने कहा कि पिछले छह वर्ष में किसानों और कृषि के लिए जो प्रयास किए हैं वे पहले कभी नहीं हुए. किसानों की आमदनी को दोगुनी करने के लिए प्रयास किए गए हैं. 


मोदी सरकार के मंत्री बोले, 'पीएम को बदनाम करने के लिए विदेशों का सहारा ले रही कुछ ताकतें'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले, राज्यसभा (Rajya Sabha) में शुक्रवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने साफ कर दिया कि सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों को भड़काया जा रहा है. तोमर  इस दौरान कांग्रेस के युवा सांसद दीपेंद्र हुड्डा पर भी भड़क उठे और उन्हें कृषि कानूनों पर अगली बार बहस करने से पहले पढ़कर आने की नसीहत दी.