दीपावली पर तोहफा : सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम की

आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि पेट्रोल औऱ डीजल के रिकॉर्ड दामों का अर्थव्यवस्था पर असर पड़ना स्वाभाविक था. त्योहारों के पहले खाने-पीने, सब्जियां बहुत महंगी हो गई हैं.

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने दीपावली के एक दिन पहले आम आदमी को बड़ी राहत दी है. सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम कर दी है. ये दरें गुरुवार को दीपावली के दिन से लागू हो जाएंगी. 3 नवम्बर को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत Rs.110.04/लीटर थी. इसमें एक्साइज ड्यूटी का हिस्सा 32.90/लीटर और VAT करीब 25.31/लीटर था. अब मध्यरात्रि से एक्साइज ड्यूटी 5 रूपया घटकर 27.90/लीटर हो जाएगी. यानी दिल्ली में पेट्रोल 5 रुपये प्रति लीटर सस्ता होकर 105.04 प्रति लीटर हो जायेगा. 3 नवम्बर को दिल्ली में डीजल की कीमत 98.42 रुपये प्रति लीटर थी. इसमें एक्साइज ड्यूटी का हिस्सा 31.80/लीटर था और वैट करीब 14.37/लीटर था. अब मध्यरात्रि से एक्साइज ड्यूटी 10 रूपये घटकर 21.80/लीटर हो जाएगी.  यानी दिल्ली में डीजल 10 रूपये प्रति लीटर सस्ता होकर 88.42 रूपये/लीटर हो जाएगा.

गौरतलब है कि दिल्ली में ही पेट्रोल की कीमतें 110 रुपये के करीब पहुंच गई हैं. जबकि डीजल भी 99 रुपये प्रति लीटर हो गया है. पेट्रोल-डीजल के कारण खाने पीने की सभी वस्तुएं महंगी हो गई हैं. सरकार ने पेट्रोल औऱ डीजल (Petrol and Diesel) पर एक्साइज ड्यूटी (Excise Duty ) में ये कटौती दीपावली के एक दिन पहले की है. इससे कल सुबह से पेट्रोल 5 रुपये औऱ डीजल 10 रुपये सस्ता हो जाएगा. इसे किसानों के लिए भी बड़ी राहत माना जा रहा है, ्कयोंकि आने वाली रबी फसल के लिए उन्हें कम दामों पर डीजल मिल सकेगा. केंद्र सरकार ने राज्यों से भी पेट्रोल औऱ डीजल पर वैट घटाने को कहा है, ताकि आम आदमी को औऱ ज्यादा राहत दी जा सके. 

आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि पेट्रोल औऱ डीजल के रिकॉर्ड दामों का अर्थव्यवस्था पर असर पड़ना स्वाभाविक था. त्योहारों के पहले खाने-पीने, सब्जियां बहुत महंगी हो गई हैं. वहीं खाद का संकट झेल रहे किसानों के लिए भी डीजल की 100 रुपये के करीब पहुंच गई कीमत बड़ी परेशानी का सबब था. हालिया विधानसभा उपचुनाव में कुछ राज्यों में बीजेपी के खराब प्रदर्शन को भी महंगाई से जोड़कर देखा जा रहा है. 


हालांकि दुनिया भर में अभी कच्चे तेल के दामों में तेज बढ़ोतरी हो रही है. तेल कंपनियां इसी के हिसाब से पेट्रोल औऱ डीजल के दामों मे बढ़ोतरी कर रही हैं. अक्टूबर में तो लगभग हर दिन ही पेट्रोल औऱ डीजल के दाम बढ़े हैं. अगर इस साल की बात करें तो पेट्रोल 25 रुपये के करीब और डीजल 20 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो गया है. राजस्थान के श्रीगंगानगर और कुछ अन्य इलाकों में तो पेट्रोल 121 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पेट्रोलियम मंत्रालय और अन्य संबंधित मंत्रालयों और विभागों से लगातार इसको लेकर चर्चा कर रहा था. हालांकि सूत्रों का कहना है कि पेट्रोल औऱ डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने को लेकर अभी कोई सहमति नहीं बनी है. कोरोना महामारी से उबर रही केंद्र और राज्यों की आर्थिक स्थिति पर पहले ही काफी दबाव है.